Thursday , April 25 2019
Breaking News

सिपाही के बेटे की सनक पड़ोसी परिवार को पड़ी भारी, घर में घुसकर दो बहनों को गोली मारी

Share this

लखनऊ। प्रदेश में एक बार फिर सिरफिरे आशिक का एक तरफा प्रेम एक परिवार की दो बेटियों को उस वक्त काफी भारी पड़ा जब सिरफिरे आशिक द्वारा घर में घुसकर मारी गई गोली से जहां एक बेटी की मौके पर ही मौत हो गई वहीं दूसरी बेटी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बेहद गंभीर और अहम बात ये है कि उक्त सिरफिरा आशिक पुलिसवाले का बेटा है। संभवतः इसी रौब-दाब के चलते ही वो इस हद तक उतरने की जुर्रत कर बैठा। हालांकि उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक जनपद मेरठ में गंगानगर के सी ब्लॉक में कांस्टेबल राजे सिंह और वकील मनोज शर्मा दोनों पड़ोसी हैं। सिपाही के सिरफिरे बेटे ने दिनदहाड़े पड़ोसी मनोज शर्मा के घर में घुसकर एक तरफा प्यार में छात्रा दर्शिता को सिर से सटा कर गोली मार दी। इसके बाद आरोपी ने दर्शिता पर खुखरी से वार कर दिए। दरअसल दर्शिता के परिजनों ने उसकी शादी तय कर दी थी, 18 अप्रैल को उसकी शादी होनी थी। इससे नाराज सिपाही के सिरफिरे बेटे ने इस वीभत्स घटना को अंजाम दिया।

इतना ही नही बल्कि बीच-बचाव में आई छात्रा की बहन गुनिता को भी गोली मार दी, जो उसके पैर में जा लगी। गुनिता का इलाज चल रहा है। वारदात अंजाम देकर आरोपी छत के रास्ते ही अपने घर में फरार हो गया। घटना के पीछे पुलिस एक तरफा प्यार को कारण बता रही है । सूचना पर तमाम आला पुलिस अफसरान आनन-फानन में सुशीला जसवंत राय अस्पताल पहुंचे। आरोपी दीपक गुर्जर वारदात को अंजाम देने के बाद अपने घर पर जाकर बैठ गया। जहां से पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया।

वहीं इस बाबत जानकारी देते हुए एसएसपी नितिन तिवारी ने बताया कि यह मामला एकतरफा प्यार का है। आरोपी दीपक पहले भी युवती से छेड़खानी और अभद्रता कर चुका है। उस वक्त पुलिस ने समझौता करा दिया था। हत्यारोपी का पिता और बहन दोनों यूपी पुलिस में कार्यरत है। आज आरारोपी ने इस वारदात का अंजाम दे डाला। पुलिस को मौके से  32 बोर की पिस्टल, एक खुखरी, दो कारतूस व चार खाली कारतूस बरामद हुए हैं। घटना से इलाके में दहशत के साथ-साथ लोगों में भारी रोष व्याप्त है।

Share this

Check Also

चुनाव आयोग की मायावती पर पाबंदी के दौरान, भतीजे आकाश ने बखूबी सम्हाली रैली की कमान

लखनऊ। चुनाव आयोग द्वारा बसपा सुप्रीमो मायावती पर द्वारा प्रचार पर पाबंदी लगाए जाने पर ...