Friday , January 24 2020
Breaking News

मुस्लिम वोट बैंक पर चढ़ाने को अपना रंग, अब छिड़ी ममता और ओवैसी में जुबानी जंग

Share this

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और एआईएमआई एम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के बीच जुबानी जंग जोर पकड़ती नजर आ रही है। क्योंकि जहां ममता बनर्जी ने बिना नाम लिए ही ईशारों ईशारों में ओवैसी पर निशाना साधा है वहीं ओवैसी ने खुलकर कहा कि ममता दीदी का बयान उनकी खीझ और डर को जाहिर करने वाला है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधा है। उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि हैदराबाद की एक पार्टी भाजपा से पैसा लेती है। कूच बिहार में जनसभा को संबोधित करते हुए बनर्जी ने कहा, ‘अल्पसंख्यकों के बीच अतिवाद सामने आ रहा है। ठीक जैसे कि हिंदुओं में चरमपंथ है। एक राजनीतिक पार्टी है जो भाजपा से पैसा लेती है। वह हैदराबाद से हैं न कि पश्चिम बंगाल से।’
 
जबकि वहीं ममता के बयान पर ओवैसी ने जोरदार पलटवार करते हुए कहा, ‘मेरे खिलाफ इस तरह के आरोप लगाकर आप बंगाल के मुस्लिमों को यह संदेश दे रही हैं कि ओवैसी की पार्टी राज्य में तेजी से उभर रही है। ममता बनर्जी इस तरह के बयानों से अपना डर और कुंठा दिखा रही हैं। हम बंगाल विधानसभा चुनाव में अपना उम्मीदवार उतारेंगे। हम ए टीम हैं। हमें भाजपा की बी टीम कहना गलत है।’ 

इतना ही नही अवैसी ने ममता के इस बयान पर जवाब देते हुए कहा कि मुझपर आरोप लगाकर ममता बनर्जी ने बंगाल के मुस्लिमों को संदेश दिया है ओवैसी की पार्टी राज्य में कितनी बड़ी हो गई है। ममता ऐसा बयानों से अपना डर और खीझ जाहिर कर रही हैं।

इसके साथ ही ओवैसी ने कहा कि अगर दीदी को हैदराबाद के कुछ लोगों से चिंता हो रही है तो उन्हें हमें बताना चाहिए कि बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में 42 में से 18 सीटें कैसे जीत लीं। बता दें कि 2021 में पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं और ओवैसी ने अपनी पार्टी के पश्चिम बंगाल से लड़ने के साफ संकेत दिए हैं।

Share this

Check Also

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने रद्द किया अब्दुल्ला आजम का निर्वाचन, चुनाव लडऩे के समय 25 साल के नहीं थे

प्रयागराज (इलाहाबाद). उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी (एसपी) के नेता आजम ...