Thursday , November 21 2019
Breaking News

प्रदेश में अपराधियों के हौसले हुए बुलन्द इस कदर कि अब एसिड से हमला कर बैठे महिला सिपाही पर

Share this

लखनऊ। देश के सबसे अहम सूबे उत्तर प्रदेश में जहां एक तरफ बेटियों और उनके परिवार का सिरफिरे विक्षिप्त किस्म के अपराधियों और शोहदों के चलते जीना दुश्वार है। हालांकि देश की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार बेटियों की सुरक्षा के प्रति कटिबद्ध है लेकिन बावजूद इसके नजीजे वैसे नही आते नजर आ रहे हैं जैसा कि आने चाहिए। जिसकी बानगी है कि ऐसे अपराधी इस कदर बेलगाम हो गए हैं कि अब तो वो पुलिस विभाग को भी नही बख्श रहे हैं और सारी हदें पार करते हुए एक महिला पुलिसकर्मी को ही अपना शिकार बना बैठे।

गौरतलब है कि मथुरा में थाना सदर बाजार क्षेत्र में चार युवकों ने गुरुवार की सुबह दुस्साहिक वारदात को अंजाम दिया। युवकों ने महिला सिपाही पर तेजाब से हमला कर दिया। इस खौफनाक बुरी तरह से झुलसी उक्त महिला सिपाही को स्वर्ण जयंती अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे आगरा रेफर कर दिया गया।   बताया जाता है कि यूपी पुलिस की महिला सिपाही श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर तैनात है। वो पुरा गांव के पास कॉलोनी स्थित एक मकान में किराये पर रहती है। महिला सिपाही सुबह चार बजे पर ड्यूटी जा रही थी, तभी कार सवार चार युवकों ने उस पर तेजाब फेंक दिया। 

वहीं अचानक हुए इस हमले में महिला सिपाही जब चीखी चिल्लाई तो चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग एकत्र हो गए। वे लोग आनन-फानन में उसे स्वर्ण जयंती अस्पताल ले गए। 45 प्रतिशत जलने पर महिला सिपाही को आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। वहीं इस बाबत जानकारी देते हुए एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि संजय और सोनू सिंह नाम के दो युवक संदेह के घेरे में हैं, जो महिला सिपाही के परिचित हैं। जबकि एसपी क्राइम मथुरा ने इस संबंध में कहा है कि महिला कांस्टेबल इस हमले में वो 40% झुलसी हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया है। हमलावरों को पकड़ने का प्रयास जारी है, घटना के पीछे कुछ पुराना विवाद हो सकता है।

Share this

Check Also

आईटी सेक्टर में 30 से 40 हजार हो सकते हैं जल्द ही बेरोजगार

नई दिल्ली। पिछले काफी समय से तकरीबन हर एक सेक्टर मंदी की मार से जूझ ...