Friday , October 23 2020
Breaking News

दूध में उबालकर पीएं तुलसी के पत्ते, दूर होंगी ये बीमारियां

Share this

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी का सेवन करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने में मदद मिलती है. इसके साथ ही तुलसी की पत्तियों को दूध में उबाल कर पीने से इम्यूनिटी स्ट्रांग होने के साथ कई रोगों से छुटकारा मिलता है. तो चलिए आज हम आपको बताते है नियमित रूप से तुलसी वाला दूध का सेवन करने से किन बीमारियों से बचाव रहता है.

सामग्री

दूध- 1- 1/2 गिलास

तुलसी के पत्ते- 8- 10

विधि

1. एक पैन दोनों चीजों को डालकर उबालें. 

2.  दूध के 1 गिलास होने पर गैस बंद कर दें. 

3. आप इसमें अपने टेस्ट के मुताबिक चीनी या शहद भी मिला सकते हैं.

तुलसी दूध पीने का सही समय

इसे सुबह खाली पेट या रात को सोने से पहले पी सकते है. 

तुलसी वाला दूध पीने से मिलते है ये फायदे

माइग्रेन- माइग्रेन में सिर पर असहनीय दर्द होने की परेशानी से जुझना पड़ता है. ऐसे में इससे समस्या से परेशान लोगों को रोजाना तुलसी वाला दूध पीने से असहनीय दर्द से राहत मिलती है. इसके साथ ही औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी वाले दूध का रोजाना सेवन करने से माइग्रेन की समस्या को जड़ के खत्म किया जा सकता है.

अस्थमा- सांस से जुड़ी समस्या से परेशान लोगों के लिए तुलसी वरदानस्वरूप मानी जाती है. इसे दूध में उबालकर सेवन करने से दमा के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इससे उन्हें सांस से संबंधित होने वाली दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता है.

किडनी स्टोन- आजकल गलत लाइफ-स्टाइल और खानपान के कारण छोटे हो या बड़े बहुत से लोगों को किडनी स्टोन यानी पथरी होने की परेशानी है. ऐसे में बहुत से लोगों को असहनीय दर्द होने का सामना करना पड़ता है. इससे बचने या राहत पाने के लिए रोजाना खाली पेट तुलसी वाला दूध पीना फायदेमंद होता है. इसके लिए पथरी की समस्या होने वाले लोगों को अपनी डाइट में तुलसी वाला दूध जरूर शामिल करना चाहिए.

डिप्रेशन- आज के बदलते दौर में काम का अधिक बोझ होने के चलते भारी मात्रा में लोग डिप्रेशन का शिकार हो रहें हैं. ऐसे में इससे राहत पाने के लिए रात को सोने से पहले तुलसी वाला दूध पीने से आराम मिलता है. साथ ही व्यक्ति को ज्यादा टेंशन के कारण नींद न आने की परेशानी से भी छुटकारा मिलता है. रोजाना इस दूध का सेवन करने से दिनभर की थकान दूर हो शरीर रिलेक्स करता है. ऐसे में अच्छी व गहरी नींद आने में मदद मिलती है.

इम्यूनिटी करें स्ट्रांग- तुलसी के पत्तों में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी- वायरल गुण होते हैं. इसे दूध में मिलाकर पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. ऐसे में मौसमी सर्दी-जुकाम, खांसी, गले में दर्द व खराश, बुखार आदि होने का खतरा कई गुणा कम होता है.

कैंसर से करें बचाव- एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल गुणों से भरपूर होने से तुलसी वाले दूध का सेवन करने से कैंसर जैसे गंभीर रोग के होने का खतरा कम होता है. यह शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को शरीर मे बनने और उसे बढ़ने से रोकने में मदद करता है. ऐसे में इसका सेवन करने से कैंसर की बीमारी होने से बचा जा सकता है. 

Share this

Check Also

जेपी नड्डा का पश्चिम बंगाल में ऐलान- जल्द लागू करेंगे सीएए, कोरोना से हुई देरी

सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल). भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोमवार को पश्चिम बंगाल  की सत्ताधारी तृणमूल ...