Friday , April 10 2020
Breaking News

देवरिया जेल कांड में आज, डिप्टी जेलर समेत 4 पर गिरी गाज

Share this
  • जेल की सीसीटीवी फुटेज डिलीट करने की बात सामने आई
  • प्रशासन ने मामले की जांच के लिए एक कमेटी का गठन
  • अतीक को बरेली जेल भेजने की सिफारिश भी की गई

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जेल के अंदर ही कुख्यात माफिया मुन्ना बजरंगी की सनसनीखेज हत्या के बाद शासन और प्रशासन द्वारा जेलों की व्यवस्था चाक चौबंद करने की तमाम कवायदें और दावे हाल फिलहाल महज छलावे ही साबित हुए हैं। क्योंकि एक बार फिर सरकार के दावे की कलई उस वक्त खुल गई जब देवरिया जेल में बंद माफिया अतीक अहमद द्वारा जेल से ही संचालित की जा रही गतिविधियां सामने आईं। हालांकि प्रशासन ने देवरिया जेल कांड में माफिया अतीक अहमद की बैरक की तलाशी के बाद कड़ा कदम उठाते हुए डिप्टी जेलर देवकांत यादव समेत हेड वार्डन मुन्ना पांडेय, वार्डन राजेश कुमार शर्मा और रामआसरे को दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया है। साथ ही अतीक अहमद को बरेली जेल भेजने की सिफारिश की गई है।

गौरतलब है कि देवरिया जेल के अधीक्षक दिलीप पांडेय और जेलर मुकेश कटियार के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के साथ ही अतीक अहमद को बरेली जेल भेजने की सिफारिश की गई है। साथ ही जेल की सीसीटीवी फुटेज डिलीट करने के मामले की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। ज्ञात हो कि माफिया अतीक अहमद जेल से ही अपनी सत्ता चला रहा है। उसने अपने गुर्गों की मदद से लखनऊ निवासी एक कारोबारी मोहित जायसवाल का अपहरण करवाकर देवरिया जेल में अपने बेटे के साथ मिलकर उसे पीटा था और रंगदारी मांगी थी। जेल के अंदर हुई इस घटना से प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए थे। जिस पर कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने सोमवार को डिप्टी जेलर समेत चार को निलंबित कर दिया है। एडीजी जेल ने मामला संज्ञान में आने पर 24 घंटे में रिपोर्ट मांगी है।

बताया जाता है कि जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने रविवार रात भारी सुरक्षा बलों के साथ जेल में दो घंटे छापेमारी की। इस दौरान सीसीटीवी फुटेज से छेड़छाड़ की बात सामने आई। जिला मजिस्ट्रेट अमित किशोर ने कहा, “सीसीटीवी रिकॉर्डिंग के साथ छेड़छाड़ की गई है। हमने घटना का संज्ञान ले लिया है। जांच कर रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कमेटी गठित कर दी गई है।” कमेटी सीसीटीवी फुटेज डिलीट किए जाने के मामले में जेल प्रशासन की भूमिका की भी जांच करेगी। वहीं, देवरिया जेल के अधीक्षक डीके पांडे मोहित जायसवाल के आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि मारपीट की सूचना पूरी तरह गलत है। दोनों के बीच नियम कायदों के मुताबिक मुलाकात हुई। जायसवाल ने इस संबंध में उन्हें कोई शिकायत नहीं की है।

Share this

Check Also

पीएम मोदी के दो ट्विट से मची हलचल, कहा- यह मुझे विवादों में घसीटने की खुराफात है

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुछ देर पहले एक के बाद एक दो ट्विट ...