Monday , April 22 2024
Breaking News

त्योहारों पर दहशत फैलाने की कोशिश हुई नाकाम, UP एटीएस ने किया बेहद अहम और बड़ा काम

Share this

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एटीएस ने मोहर्रम और गणेश चतुर्थी आदि त्योहारों के दौरान किसी बड़े हमले और काण्ड की फिराक में जुटे हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे खूंखार आतंकी स्रगठन के एक संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है।

गौरतलब है कि यूपी एटीएस अौर कानपुर पुलिस के सहयोग से कानपुर में गणेश चतुर्थी के दौरान धमाके की साजिश रचने वाले हिजबुल मुजाहिद्दीन के एक संदिग्ध अातंकी को गिरफ्तार कर लिया है। चकेरी थानाक्षेत्र के अहिरवां स्थित एक मकान में स्टूडेंट बनकर रह हे अातंकी का नाम कमरूज़ज़्मा उर्फ डॉ हुरैहा उर्फ कमरुद्दीन बताया गया है।

बताया जाता है कि फिलहाल सुरक्षा एजेंसियां आतंकी घटनाओं के लिए मिलने वाले धन और मददगारों के बारे में संदिग्ध अातंकी से पूछताछ में जुटी है। घटना का खुलासा करते हुए यह जानकारी लखनऊ में डीजीपी अोपी सिंह ने दी।

डीजीपी ने बताया कि एटीएस को अातंकी के पास के कानपुर के कुछ मंदिरों का डाटा भी मिला है। गुरुवार भोर तीन बजे के अासपास एनअाईए के सहयोग से मिली जानकारी पर यूपी एटीएस ने कानपुर पुलिस की मदद से अहिरवां में उजियारी लाल यादव के घर पर किराए पर रहने वाले अातंकी कमरुद्दीन को धर दबोचा।

फिलहाल मिली जानकारी के मुताबिक अातंकी गणेश चतुर्थी पर कानपुर में बड़े हमले की फिराक में था। इसके लिए उसने कानपुर के प्रसिद्ध मंदिर की रेकी भी की थी। अातंकी के पास से पुलिस ने कुछ अहम दस्तावेज अौर कुछ मंदिरों की तस्वीरें भी बरामद की हैं। पकड़े गए संदिग्ध आतंकी से यूपी एटीएस के साथ अन्य सुरक्षा  एजेंसियां भी करेंगी पूछताछ।

जानकारी के मुताबिक उक्त आतंकी कमरुद्दीन का इतिहास कुछ इस प्रकार है।

  • कश्मीर के किश्तवाड़ में ले चुका है मुजाहिदीन के कैंपों में ट्रेनिंग।
  • अप्रैल 2017 में कश्मीर में ओसामा नाम के व्यक्ति की मदद से बना था हिजबुल का आतंकी।
  • साल 2008 से 2012 के बीच फिलीपींस के निकट आइलैंड पलाउ में रह चुका है
  • अप्रैल 2018 में सोशल मीडिया पर एके-47 के साथ फोटो डालकर आया था सुरक्षा एजेंसी के निगाह में
  • हिजबुल मुजाहिदीन में इसका नाम डॉक्टर हुरैरा  रखा गया था
Share this
Translate »