Monday , April 22 2024
Breaking News

मुलायम अखिलेश के साथ आए नजर, शिवपाल का दांव हुआ बेअसर

Share this

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के लिए बेहद ही राहत भरा माहौल उस वक्त नजर आया जब दिल्ली के जंतर मंतर पर पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और संरक्षक मुलायम सिंह यादव साईकिल यात्रा रैली के समापन के दौरान मंच पर न सिर्फ एक साथ नजर आए बल्कि मुलायम ने एक बार फिर नौजवानों को बखूबी नसीहतें देते हुए केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना भी साधा।

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी की साइकिल यात्रा के समापन समारोह में दिल्ली के जंतर-मंतर पर बड़ी रैली हो रही है। इस रैली में पूर्व अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव दोनों एक ही मंच पर दिखाई दिए। साथ ही पार्टी के तमाम नेता और कार्यकर्ता जंतर-मंतर पर जुटे। एक तरह से पार्टी के लिए एक सुखद संकेत नजर आया।

इस दौरान फिर मुलायम सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए एक तरह से अपनी व्यथा कथा को एक नसीहत के तौर पर कुछ यूं बयान किया कि उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि बूढ़ों का सम्मान करें, समाजवादी पार्टी कभी बूढ़ी नहीं होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि लड़कियों को समाजवादी पार्टी में शामिल करें। पार्टी में लड़कियों को जिम्मेदारी दी जानी चाहिए। नौजवानों से कहा, बेदाग रहना, नेता बन जाओगे।

इतना ही नही बल्कि इस दौरान मुलायम सिंह ने पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि 15 लाख देने का वादा किया था। लेकिन मोदी सरकार ने एक रुपया नहीं दिया। एक तरह से मोदी सरकार झूठ बोलकर सत्ता में आई।

वहीं इस रैली को संबोधित करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सबसे पहले नेताजी का आभार जताया। अखिलेश ने कहा कि मौसम अच्छा है, सभी को आज साइकिल चलानी चाहिए थी। सामाजिक न्याय यात्रा और नेताजी के आने से पार्टी को नई ऊर्जा मिली है। साइकिल का एक पहिया अम्बेडकर विचारधारा और दूसरा लोहिया विचारधारा का है। उन्होंने कहा कि आधी आबादी के बिना लोकतांत्र अधूरा है।

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने पीएम मोदी की नोटबंदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि क्या नोटबंदी से भ्रष्टाचार खत्म हुआ। जीएसटी और नोटबंदी से रोजगार छीना गया। अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार कहती है, पकौड़ा बनाओ और नाली से गैस जलाओ। अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था चौपट है। बच्चे मर रहे हैं।

Share this
Translate »