Saturday , April 13 2024
Breaking News

‘केदारनाथ’ का विरोध शुरू, फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग

Share this

निर्माता एवं निर्देशक अभिषेक कपूर की फिल्म ‘केदारनाथ’ को लेकर उत्तराखंड में जबर्दस्त विरोध शुरू हो गया है. फिल्म को लेकर जहां जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं वहीं साधु संत इसे हिन्दू आस्था के खिलाफ बता रहे हैं. उच्च न्यायालय में इसको लेकर बुधवार को एक जनहित याचिका दायर की गई है जिसकी सुनवाई गुरुवार को होगी. दूसरी ओर सरकार भी इस मामले को लेकर गंभीर हो गयी है. सरकार ने इस मामले को लेकर एक समिति का गठन किया है. सरकार समिति की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करेगी.

साधु संत फिल्म की कहानी को लेकर विरोध कर रहे हैं. उनका मानना है कि मोक्ष के धाम केदारनाथ को जिस तरह प्यार के धाम के रूप में दर्शाया गया है, साधु संत उससे उद्वेलित हैं. स्वामी दर्शन भारती उर्फ देवेन्द्र सिंह पंवार व अन्य की ओर से इस मामले को आज उच्च न्यायालय में चुनौती दी गई है. केदारनाथ हिन्दुओं की आस्था का केन्द्र है और भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से वह प्रमुख ज्योतिर्लिंग हैं. केदारनाथ को मोझ का धाम माना जाता है.

याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया है कि फिल्म में केदारनाथ के इतिहास को गलत ढंग से पेश किया गया है और इससे सीधे-सीधे उत्तराखंड ही नहीं देश व दुनिया के लोगों की आस्था पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है. याचिका में कहा गया है कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म में दिखाए गए इन तथ्यों की अनदेखी की है. फिल्म में केदारनाथ को प्यार का धाम बताया गया है.

Share this
Translate »