Tuesday , April 23 2024
Breaking News

ममता दी की रैली को राहुल ने दिया कुछ इस तरह से अपना समर्थन

Share this

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समय के साथ बेहद ही परिपक्व होते जा रहे हैं जिसकी बानगी जहां कर्नाटक में हाल ही में जारी संकट के समय तो देखने को मिली ही थी वहीं अभी कोलकता में होने वाली ममता की विपक्षी एकता को लेकर 19 जनवरी को होने वाली रैली में सोनिया और राहुल के न जाने को लेकर जारी अटकलों पर राहुल गांधी ने ममता दी को खत लिखकर बखूबी विराम लगा दिया है।

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने ममता बनर्जी को एक पत्र लिखकर अपना समर्थन देने की बात कही है। पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा है, ‘पूरा विपक्ष एकजुट है। मैं ममता दी को इस रैली के लिए अपना समर्थन देता हूं और आशा करता हूं कि हम एकजुट भारत का शक्तिशाली सन्देश देंगे।’ उन्होंने यह भी कहा कि पूरा विपक्ष इस विश्वास के प्रति एकजुट है कि सच्चे राष्ट्रवाद और विकास की रक्षा लोकतंत्र, सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता जैसे उन मूल्यों के आधार पर करनी है जिनको नरेंद्र मोदी सरकार नष्ट कर रही है।

इतना ही नही बल्कि ममता को लिखे पत्र में गांधी ने कहा, ‘हम बंगाल के लोगों की सराहना करते हैं जो ऐतिहासिक रूप से हमारे इन मूल्यों की रक्षा करने में आगे रहे हैं।’ वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि यह रैली लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा के लिये ‘मृत्यु-नाद’ की मुनादी होगी। भगवा पार्टी के ‘कुशासन’ के खिलाफ संयुक्त लड़ाई का संकल्प जताने के लिये कोलकाता के प्रतिष्ठित ब्रिगेड परेड मैदान में शनिवार को होने वाली इस रैली में 20 से अधिक विपक्षी दलों के शिरकत करने की संभावना है।

ज्ञात हो कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शनिवार 19 जनवरी को कोलकाता में एक रैली का आयोजन कर रही हैं। साल की शुरुआत में विपक्ष का अपनी ताकत दिखाने का यह पहला मौका होगा। भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में हराने के लिए पूरे विपक्ष की इस रैली में साथ आने की उम्मीद है। साथ ही रणनीति बनाई जाएगी जिससे कि भाजपा को जीतने से रोका जा सके।

इस रैली में शामिल होने के लिए कर्नाटक के मुख्यमंत्री और जद(एस) के नेता एचडी कुमारस्वामी आज कोलकाता के लिए रवाना हो चुके हैं। डीएमके मुखिया एमके स्टालिन ने रैली में जाने की पुष्टि की है। मायावती के प्रतिनिधि के तौर पर सतीश मिश्रा इस रैली का हिस्सा बनेंगे। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी रैली में हिस्सा नहीं लेंगे लेकिन उनकी तरफ से मल्लिकार्जुन खड़गे और अभिषेक मनु सिंघवी शामिल होंगे।

ममता बनर्जी की इस महारैली में भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा भी शामिल होंगे। शत्रुघ्न सिन्हा ने गुरुवार को बताया कि वह ‘राष्ट्र मंच’ के प्रतिनिधि के तौर पर ममता की महा रैली में हिस्सा लेंगे।  शत्रुघ्न सिन्हा केंद्र की भाजपा सरकार के कई निर्णयों को लेकर उसका विरोध करते रहे हैं जिसमें नोटबंदी भी शामिल है। वह इन निर्णयों को ‘वन मैन शो’ बताते रहे हैं। इस रैली को लेकर ममता बनर्जी ने कहा कि देश का शायद ही कोई विपक्षी नेता हो जिसे न्योता नहीं दिया गया हो।

इसके साथ ही इस रैली में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार, राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के अजित सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और झारखंड विकास मोर्चा के बाबूलाल मरांडी भी तृणमूल प्रमुख के साथ मंच साझा करते दिखेंगे। अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री जेगांग अपांग भी इस रैली में शामिल होंगे। जेगांग ने मंगलवार को ही भाजपा छोड़ा।

Share this
Translate »