Saturday , April 13 2024
Breaking News

बेखौफ दरिंदों की एक और दरिंदगी सामने आई, फिर एक महिला को मिट्टी तेल डाल आग लगाई

Share this

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बेटियों और महिला की सुरक्षा को लेकर जारी सरकार की तमाम कवायदें हाल फिलहाल फेल साबित हो रही हैं। क्योंकि जहां एक तरफ ऐसे दरिंदे पूरी तरह से बेलगाम और बेखौफ तो हैं ही वहीं काफी हद तक ऐसे गंभीर मामलों में पुलिस का लचर रवैया उन अपराधियों के हौलसों को और भी बुलंद कर रहा है। इसी क्रम में मुहोब्बत के नायाब नमूने से पहचाने जाने वाली ताज नगरी में जहां एक बार फिर एक महिला को बेखौफ दरिंदों ने मिटटी तेल डाल आग लगा दी। वही जनपद बागपत में गैंगरेप की शिकार एक पीड़िता ने आरोपियों द्वारा लगातार दबाव बनाने और पुलिस के लचर रवैये से परेशान होकर आत्मदाह किये जाने की धमकी दी गई हे।

गौरतलब है कि  प्रदेश के जनपद आगरा के फतेहाबाद क्षेत्र स्थित ग्राम मीठपुरा में गीता उम्र 30 वर्ष अपने दो बच्चों के साथ घर में अकेली थी। रात तकरीबन नौ बजे जवाहर और संजय निवासी ग्राम गट्टपुरा, फतेहाबाद तथा हरिओम निवासी मीठपुरा आए। इन तीनों ने दरवाजा खटखटाया। गीता ने अपने पति के आने की सोचकर दरवाजा खोल दिया। आरोप है कि दरवाजा खुलते ही इन तीनों ने गीता पर मिट्टी का तेल उड़ेल दिया और आग लगाकर भाग गए। गीता चीखते हुए सड़क पर आ गई। शोर शराबा सुनकर पहुंचे ग्रामीणों ने किसी तरह आग बुझाई, तब तक गीता करीब 40 प्रतिशत जल चुकी थी। ग्रामीणों ने उसको अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की सूचना उसके पति बीपी सिंह को दी।

बताया जाता है कि महिला का पति एक शादी समारोह में गया हुआ था। पड़ोस के लोगों ने आग से जली महिला को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। थाना फतेहाबाद में तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी गई है। हालांकि बताया जा रहा है कि घटना के पीछे मामला लेन देन का है। पीड़ित महिला के पति ने तीनों आरोपी जवाहर, संजय और हरिओम के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। मामले में एसपी देहात नित्यानंद राय का कहना है कि पुलिस घटना की जांच कर रही है। इसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

जबकि वहीं जनपद बागपत में बागपत में कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी महिला ने उसे अगवा कर सामुहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगाए हैं। पीड़िता का आरोप है कि आरोपी लगातार समझौता करने का दबाव बना रहे हैं और ऐसा न करने पर जान से मारने की धमकी दे रहे है। पीड़िता का आरोप है कि पुलिस ने महिला के न्यायालय में भी बयान दर्ज नहीं कराए। महिला ने चेतावनी दी कि यदि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो वह एसपी दफ्तर पर आत्मदहा कर लेगी। उसने एसपी से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

ज्ञात हो कि कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ले की रहने वाली महिला ने बताया कि 12 जनवरी की शाम छह बजे चार लोग तमंचे के बल पर घर से गाड़ी में अगवा कर ले गए थे। गाड़ी में पहले से ही तीन लोग बैठे हुए थे। उसे नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश कर दिया था और एक सुनसान जगह ले जाकर तीन लोगों ने उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म किया था। दो दिन बाद उसे सिसाना के पास छोड़कर भाग निकले थे। महिला ने सपा नेता रियासत अली, सलीम, इंतयाज, नूर मोहम्मद, चांद, तसलीम, आस मोहम्मद के खिलाफ धारा 376, 364 आईपीसी में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने उसका मेडिकल परीक्षण भी करा दिया। पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही।

Share this
Translate »