Thursday , April 25 2024
Breaking News

भाजपा के अहम सहयोगी दल ने प्रियंका को लेकर दी बेहद ही चौंकाने वाली प्रतिक्रिया

Share this

नई दिल्ली। ऐन लोकसभा चुनावों से पहले प्रियंका गांधी बाड्रा की सक्रिय राजनीति में एंट्री पर जहां भाजपा समेत तमाम सियासी दलों के समीकरण गड़बड़ाने लगे हैं वहीं तमाम दलों के बयान अब कांग्रेस के पक्ष में आने लगे हैं। बेहद ही दिलचस्प और अहम बात है कि कल तक भाजपा की खासमखास सहयोगी रही शिवसेना ने जहां राहुल द्वारा जारी तमाम कवायदों की तारीफ की वहीं साफ कहा कि अगर प्रियंका गांधी अपने पत्ते सही तरह से खेलेंगी तो तय है कि रानी बनकर उभरेंगी।

गौरतलब है कि  शुक्रवार को शिवसेना ने कहा कि अगर प्रियंका गांधी ने अपने पत्ते सही तरीके से खेले तो वह ”रानी” बनकर उभरेंगी और उन्हें पार्टी में शामिल करके राहुल गांधी ने दिखा दिया कि आगामी आम चुनाव में जीत हासिल करने के लिये वह कुछ भी करने को तैयार हैं। दरअसल पार्टी के मुखपत्र सामना में एक लेख में यह बातें कही गई हैं। इतना ही नही बल्कि भाजपा की गठबंधन साझीदार शिवसेना ने यह भी कहा कि सत्ताधारी दल के नेताओं (भाजपा नेताओं) के इस बयान का कोई मतलब नहीं है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ”नाकाम” होने के चलते प्रियंका को पार्टी में शामिल किया गया है।

इसके साथ ही पार्टी ने कहा कि कांग्रेस प्रमुख ने राफेल लड़ाकू विमान खरीद के मुद्दे पर सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी थीं। शिवसेना के मुताबिक राहुल गांधी के मोदी सरकार पर राफेल सौदे में लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों को नजरअंदाज भी कर दें तब भी हाल ही में तीन राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत का श्रेय उन्हें नहीं दिया जाना संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है। वहीं लेख में ये भी कहा गया है, “उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा के गठबंधन में कांग्रेस को जगह नहीं दी गई। हालांकि राहुल गांधी ने बहुत ही धैर्य के साथ खुद को शांत रखा।”

इसके अलावा लेख में कहा गया कि गांधी ने उत्तर प्रदेश में सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान करके और सपा-बसपा को हरसंभव मदद देने तथा उसी समय प्रियंका को मुख्यधारा की राजनीति में लाने का फैसला करके अपने पत्ते सही तरीके से खेले। लेख के मुताबिक, “इससे कांग्रेस को मदद मिलेगी। यहां तक कि प्रधानमंत्री को प्रियंका के राजनीति में आने पर बोलना पड़ा। लोगों ने परिवार को स्वीकार कर लिया है तो कुछ लोगों के पेट में दर्द क्यों हो रहा है?” लेख में कहा गया है कि भाजापा नेहरू-इंदिरा परिवार को लेकर इसलिये शत्रुता की भावना रखती है क्योंकि वह उसे जबरदस्त प्रतिस्पर्धी के तौर पर देखती है।

संपादकीय के मुताबिक भाजपा, कांग्रेस की ओर से मजबूत चुनौती मिलने को लेकर डरी हुई है। शिवसेना ने कहा कि प्रियंका की शक्ल सूरत और बातचीत के तरीके में उनकी दादी इंदिरा गांधी की झलक दिखती है। लिहाजा कांग्रेस को निश्चित ही आम चुनावों के दौरान हिंदी पट्टी के राज्यों में इसका फायदा होगा। उसने पति रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ चल रहे मामलों की चिंता किये बगैर प्रियंका के सक्रिय राजनीति में आने की सराहना की। पार्टी ने कहा कि अगर प्रियंका ने अपने पत्ते सही तरीके से खेले तो वह अपनी दादी की तरह “रानी” बनकर उभरेंगी।

Share this
Translate »