Thursday , January 20 2022
Breaking News

मुंबई हरियाली वाले शहरों में शमिल, दुनिया भर के देशों में 31 वां स्थान

Share this

मुंबई. देश की व्यापारिक राजधानी कहे जाने वाले मुंबई दुनिया के उन इकतीस महान शहरों में शामिल है, जहां आने वाले वर्षों में काफी हरियाली होगी. इनके प्रमुख महापौरों ने शहरी पार्कों, पेड़ों, उद्यानों, तालाबों, उनके नगरों के भीतर झीलों में काफी इजाफा किया है. हरियाली बढऩे से इन प्राकृतिक निवेशों से समुदायों को स्वस्थ बनाने, वायु गुणवत्ता में सुधार करने शहरों को अत्यधिक गर्मी, बाढ़ सूखे जैसे जलवायु संकट के बढ़ते गंभीर प्रभावों से बचाने में मदद मिलेगी. सी40 अर्बन नेचर डिक्लेरेशन पर हस्ताक्षर करने वाले शहरों द्वारा निर्धारित लक्ष्य सार्वजनिक हरे नीले स्थानों में भारी वृद्धि देखेंगे.

डरबन (ईथेकविनी) में शहर की नदियों में सुधार के लिए एक परिवर्तनकारी नदी प्रबंधन कार्यक्रम को पूरा करने के लिए काम शुरू हो गया है, जो लचीलापन में सुधार करेगा हजारों हरित रोजगार पैदा करेगा. बार्सिलोना नई हरी छतों की लागत का 75 प्रतिशत सब्सिडी देगा, शहरी आवंटन का निर्माण करेगा अक्षय ऊर्जा उत्पादन, वर्षा जल संग्रह जैविक कचरे के लिए खाद बनाने के लिए जगह प्रदान करेगा.

ग्वाडलजारा में, 70 हरे गलियारों में 67,000 नए पेड़ लगाए जाएंगे, शहर को ठंडा करने छाया आराम की जगह प्रदान करने के लिए 50 से अधिक नए सार्वजनिक उद्यान पेश किए जाएंगे. शहर बागवानों वृक्ष तकनीशियनों को प्रशिक्षित करने के लिए पाठ्यक्रमों का वित्तपोषण कर रहा है, निवासियों के लिए पेड़ों बगीचों की देखभाल के लिए 400 कार्यशालाएं प्रदान कर रहा है.
टोरंटो के शहरी वन अनुदान प्रोत्साहन कार्यक्रम के तहत 13,000 से अधिक पेड़ झाडिय़ां लगाई जाएंगी, जो रोपण कार्यक्रमों, शैक्षिक कार्यशालाओं युवा कार्यक्रमों के माध्यम से समुदायों को शिक्षित आकर्षित करेंगी.

मुंबई में, राज्य सरकार अधिक मैंग्रोव पेड़ों की रक्षा करते हुए पुराने पेड़ों की रक्षा संरक्षण पेड़ों की कटाई को रोकने के लिए वृक्ष अधिनियम में संशोधन कर रही है. ये कार्रवाइयां सी40 महापौरों के निरंतर प्रयासों का हिस्सा हैं जो कोविड से हरित न्यायपूर्ण पुनप्र्राप्ति प्रदान करने के लिए जारी हैं. सी40 की शहरी प्रकृति घोषणा पर हस्ताक्षर करने वाले शहर गर्मी पानी से संबंधित जोखिम को संबोधित कर रहे हैं, यह सुनिश्चित करते हुए कि 2030 तक, शहर के कुल निर्मित सतह क्षेत्र के 30-40 प्रतिशत में सड़क के पेड़, शहरी जंगल पार्क जैसे हरे भरे स्थान होंगे; या पारगम्य स्थान जैसे टिकाऊ शहरी जल निकासी व्यवस्था पानी को अवशोषित करने बाढ़ को रोकने के लिए डिजाइन किए गए . शहर कमजोर समुदायों के लिए पहुंच कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने पर भी ध्यान केंद्रित करेंगे, यह सुनिश्चित करते हुए कि शहर की 70 प्रतिशत आबादी के पास 2030 तक 15 मिनट की पैदल दूरी या बाइक की सवारी के भीतर हरे या नीले सार्वजनिक स्थानों तक पहुंच है.

अध्ययन के बाद पता चलता है कि शहरी प्रकृति तक समान पहुंच लोगों पर्यावरण दोनों के लिए फायदेमंद है; शहरों को जलवायु परिवर्तन के वर्तमान भविष्य के प्रभावों के अनुकूल प्रतिक्रिया करने में मदद करता है. मेडेलिन में, शहर के ग्रीन कॉरिडोर परियोजना के लिए 10,000 से अधिक पेड़ लगाने के कारण तापमान में दो डिग्री सेल्सियस की कमी आई है.

टोरंटो में एक अध्ययन में पाया गया कि शहर के एक ब्लॉक में सिर्फ 10 पेड़ जोडऩे से लोगों की उनके स्वास्थ्य भलाई के बारे में धारणाओं पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है, जो प्रति परिवार 10,000 डॉलर अधिक कमाने या सात साल छोटे होने के प्रभाव के बराबर है. चूंकि ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन तापमान समुद्र के स्तर में वैश्विक स्तर पर वृद्धि जारी है, प्रकृति को शहरों में लाने के प्रयासों में तेजी लाने के लिए कभी भी अधिक जरूरी नहीं रहा है. 2050 तक, 570 से अधिक शहर समुद्र के स्तर में वृद्धि की चपेट में होंगे, 500 से अधिक शहर पानी की उपलब्धता के प्रति संवेदनशील होंगे, 970 से अधिक शहर अत्यधिक गर्मी की चपेट में होंगे. सी40 सिटीज के कार्यकारी निदेशक मार्क वाट्स ने कहा, शहरों के प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र का समर्थन सुरक्षा करना जलवायु संकट के खिलाफ लचीलापन बनाने स्वस्थ, समावेशी शहरी समुदायों के निर्माण के लिए हमारे सबसे महत्वपूर्ण उपकरणों में से एक है.

Share this
Translate »