Thursday , January 27 2022
Breaking News

येदियुरप्पा अभी कुर्सी छोडऩे को तैयार नहीं, 26 जुलाई को बुलाई गई विधायक दल की बैठक रद्द

Share this

नई दिल्ली. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने 26 जुलाई को बुलाई गई भाजपा विधायक दल की बैठक को रद्द कर दिया है. येदियुरप्पा की सरकार के दूसरे वर्षगांठ पर बुलाई गई इस बैठक में संभावना जताई जा रही थी कि येदियुरप्पा कुर्सी छोडऩे को लेकर कोई संकेत दे सकते हैं. हालांकि पार्टी के विधायकों की एक बैठक 25 जुलाई को बेंगलुरु में हो रही है लेकिन ये सारे विधायक मुख्यमंत्री द्वारा आयोजित एक रात्रिभोज में एकजुट हो रहे हैं.

भाजपा के एक नेता के हवाले से द हिंदू की रिपोर्ट में कहा गया है कि 25 जुलाई को होने वाली बैठक सिर्फ रात्रिभोज के लिए है न कि विधायक दल की बैठक. हालांकि बीजेपी विधायक दल की बैठक को सिर्फ रात्रिभोज में बदलने के लिए कोई आधिकारिक कारण नहीं बताया गया है.

राजनीतिक हलकों में इस बैठक को रद्द कर रात्रिभोज में बदलने के पीछे व्याख्या की जा रही है कि ऐसा इसलिए किया गया है ताकि राज्य में नेतृत्व परिवर्तन या इस्तीफे की घोषणा को लेकर चल रही अटकलों को खारिज किया जा सके. राजनीतिक हलकों ने इसे आगे की अटकलों और सिद्धांतों को पूर्व-खाली करने के प्रयास के रूप में व्याख्या की है, जिसमें 26 जुलाई को डी-डे के रूप में पेश किया गया है जब नेतृत्व पर कुछ महत्वपूर्ण निर्णय या घोषणा परिवर्तन/इस्तीफा दिए जाने की संभावना है.

विधायक दल की बैठक को न करने या फिर उसका स्वरूप बदलने से कम से कम उन अटकलों को कमजोर करने का मौका मिलेगा, जिसमें ये कहा जा रहा था कि 25 जुलाई को राज्य में बड़ा ऐलान हो सकता है. मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव ने कहा था कि यह सिर्फ एक रात्रिभोज है, कोई विधायक दल की बैठक नहीं है.

कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों ने एक बार फिर जोर पकड़ लिया था जब मुख्यंत्री बीएस येदियुरप्पा ने पिछले सप्ताह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद ही राज्य में विधायक दलों की बैठक बुलाई थी. इस घोषणा के बाद ये अटकलें लगाई गई थीं कि प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद येदियुरप्पा को नेतृत्व परिवर्तन का साफ संकेत दे दिया गया था. अब विधायक दल की बैठक रद्द करके मुख्यमंत्री खेमे ने उनके पद छोडऩे की किसी भी संभावना को खारिज करने की जवाबी रणनीति के रूप में देखा जा रहा है.

Share this
Translate »