Tuesday , January 25 2022
Breaking News

आयुर्वेद के अनुसार बेली फैट को घटाने के 9 आसान तरीके

Share this

वजन कम करना आसान नहीं है और पेट की चर्बी कम करना और भी मुश्किल है. अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जो पेट की चर्बी कम करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, तो आयुर्वेद के अनुसार यहां कुछ जीवनशैली में बदलाव किए गए हैं जो आपकी मदद कर सकते हैं. यहां आठ आसान उपाय दिए गए हैं, जिनका पालन करने पर उस पेट की चर्बी को स्वाभाविक रूप से घटाने का वादा किया जाता है.

टिप 1

दोपहर के भोजन के दौरान अपनी कुल दैनिक कैलोरी का 50 फीसदी कनज्यूम करने की कोशिश करें क्योंकि उस समय आपकी पाचन शक्ति सबसे मजबूत होती है. रात के खाने के दौरान कम से कम कैलोरी का सेवन करें, जिसका सेवन शाम 7 बजे से पहले करना चाहिए.

टिप 2

अगर आपका लक्ष्य पेट की चर्बी कम करना है तो रिफाइंड कार्ब्स एक बड़ी संख्या है. रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करें, मीठे ड्रिंक्स, मिठाई, पास्ता, ब्रेड, बिस्कुट और तेल से भरपूर फूड्स से दूर रहें.

टिप 3

मेथी के चूर्ण को सुबह खाली पेट पानी के साथ सेवन करें. आप मेथी के दानों को रात भर भिगो कर रख सकते हैं और सुबह खाली पेट उनका सेवन कर सकते हैं.

टिप 4

Garcinia Cambogia फल (मालाबार इमली) का सेवन करें. ये स्वाद को बढ़ाता है, पाचन में सुधार करता है और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है, जो बदले में वजन कम करने में मदद करता है.

टिप 5

अपने आहार में त्रिफला को शामिल करें. ये शरीर से टॉक्सिन्स को खत्म करने में मदद करता है और आपके पाचन तंत्र को फिर से जीवंत करता है. एक चम्मच त्रिफला चूर्ण लें और इसे रात के खाने के बाद गर्म पानी के साथ लें.

टिप 6

सोंठ का पाउडर लें क्योंकि इसमें थर्मोजेनिक एजेंट होते हैं, जो फैट को बर्न करने के लिए उपयोगी होते हैं. गर्म पानी में सोंठ का सेवन करने से मेटाबॉलिज्म तेज होता है और अतिरिक्त फैट बर्न होता है. अगर आपके घर में सोंठ का पाउडर नहीं है तो आप कच्चे अदरक का सेवन करी और चाय के साथ भी कर सकते हैं.

टिप 7

30 मिनट के लिए अपने पेट को पकड़कर तेज चलना पेट की चर्बी को बर्न करने का एक और प्रभावी तरीका है. आप अपने वर्कआउट रूटीन में योग और पिलेट्स को भी शामिल कर सकते हैं.

टिप 8

जब भी प्यास लगे गर्म पानी पिएं. गर्म पानी आपके मेटाबॉलिज्म को सक्रिय करके वजन घटाने में मदद करता है.

टिप 9

अपने भोजन को ठीक से चबाएं. लार के साथ मिलकर कार्बोहाइड्रेट का पाचन आपके मुंह में शुरू होता है. भोजन को ठीक से चबाने से पाचन तंत्र में जाने से पहले भोजन को मुंह में तोड़ने में मदद मिलती है. ये तृप्ति हार्मोन को सक्रिय करने में भी मदद करता है और इस प्रकार पेट भर जाने पर मन को सचेत करता है.

Share this
Translate »