Tuesday , May 17 2022
Breaking News

सीमेंट-सरिया के भाव में लगी आग घर बनाने के सपने पर भारी पड़ रही महंगाई

Share this

रायपुर. इन दिनों आपके घर बनाने का सपना और महंगा हो गया है. सीमेंट की कीमतों में जहां बेतहाशा वृद्धि है, वहीं सरिया की कीमतों ने भी नया रिकार्ड बना लिया है. वर्तमान में सरिया 63 हजार रुपये प्रति टन में बिक रही है. क्षेत्र से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि अभी इनकी कीमतों में और बढ़ोतरी हो सकती है. सीमेंट की कीमतों पर जहां ट्रक की हड़ताल के चलते बाजार में अघोषित किल्लत के कारण हुई है.

वहीं लोहा बाजार में भी हाहाकार मचा हुआ है. बीते कुछ महीनों में कोयले की कीमतों में दोगुनी बढ़ोतरी के साथ ही कोयला भी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है. इसके साथ ही ऊपरी मंडियो में लोहा बाजार में चलने वाली सट्टेबाजी हावी हो गई है. पखवाड़े भर में सरिया सात हजार रुपये टन तक महंगा हुआ है.

बाजार में नहीं है मांग

भवन निर्माण की सामग्री की सप्लाई करने वाले कारोबारी राजेश कुमार ने बताया कि जिस तेजी से सीमेंट और सरिया की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है. बाजार में मांग कमजोर बना हुआ है. अभी भी सरकारी कामकाज पूरी तरह से बंद पड़े हैं और निजी बिल्डरों के प्रोजेक्ट में भी काम रुका हुआ है. वैसे भी त्योहार के बाद ही इनकी मांग में बढ़ोतरी होती है. अगर पिछले साल से तुलना की जाए तो भी मांग 30 फीसद कम ही है. त्योहार के बाद मांग में बढ़ोतरी होगी.

छह माह में दूसरी बार भाड़ा बढ़ाने का दबाव

छह माह पहले ट्रक चालकों द्वारा मालभाड़ा बढ़ाने के लिएसीमेंट कंपनियों पर दबाव बनाया गया था. उस समय कंपनियों ने मांगें मान ली थी. डीजल की कीमतों में बढ़ती कीमतों के चलते छह माह बाद फिर से मालभाड़ा बढ़ाने दबाव बनाया जा रहा है.

कोयले के दाम बढऩे व अनुपलब्धता से महंगा हुआ सरिया

छत्तीसगढ़ मिनी स्टील प्लांट एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक सुराना ने बताया कि कोयले की कीमतों में बीते कुछ महीनों में दोगुनी से ज्यादा बढ़ोतरी हो गई है. साथ ही उपलब्ध भी नहीं हो पा रहा है. ऊपरी मंडियों में सट्टाबाजी भी बढ़ी है. इसी कारण से पखवाड़े भर में ही सरिया इतना महंगा हुआ है.

Share this
Translate »