Friday , January 28 2022
Breaking News

1 जनवरी से एटीएम से कैश निकालना पड़ेगा महंगा, प्रति ट्रांजेक्शन इतना लगेगा शुल्क

Share this

नई दिल्ली. 5 दिन बाद यानी 1 जनवरी से एटीएम से कैश निकालना और जमा करना महंगा पडऩे वाला है. बैंक ग्राहक एटीएम से कैश ट्रांजेक्शन के लिए पहले जितना भुगतान कर रहे थे, अब उससे अधिक भुगतान करना होगा. एक जनवरी 2022 से ग्राहकों को फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन लिमिट पार करने पर ज्यादा भुगतान करना होगा. जून में ही भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को 1 जनवरी 2022 से मुफ्त मासिक सीमा से अधिक नकद और गैर-नकद एटीएम लेनदेन के लिए शुल्क बढ़ाने की अनुमति दी थी. एक्सिस बैंक ने कहा, आरबीआई के दिशानिर्देशों के अनुसार, एक्सिस बैंक या अन्य बैंक के एटीएम में 01-01-22 से मुफ्त सीमा से ऊपर का वित्तीय लेनदेन शुल्क 21 रुपए + जीएसटी होगा.

कितना लगेगा चार्ज?

वर्तमान में बैंक एटीएम या कैश रिसाइक्लिर मशीन से कैश और नॉन-कैश ट्रांजेक्शन करने पर महीने में पहले 5 वित्तीय ट्रांजेक्शन फ्री होते हैं. इसके बाद 20 रुपये प्रति वित्तीय ट्रांजेक्शन का चार्ज लगता है. लेकिन 1 जनवरी 2022 से यह चार्ज 21 रुपये प्रति वित्तीय ट्रांजेक्शन होगा. उन्हें मेट्रो शहरों में दूसरे बैंक के एटीएम से 3 ट्रांजेक्शन और नॉन-मेट्रो शहरों में दूसरे बैंक के एटीएम से 5 ट्रांजेक्शन अभी की तरह मुफ्त मिलती रहेंगी. ग्राहक अपने स्वयं के बैंक एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन सहित) के लिए पात्र बने रहेंगे. वे मेट्रो सिटी में अन्य बैंक के एटीएम से तीन और गैर-मेट्रो केंद्रों में पांच मुफ्त लेनदेन भी कर सकेंगे.

1 जनवरी से लागू होंगी नई दरें

बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को एटीएम के जरिए तय मुफ्त मंथली लिमिट से ज्यादा बार रकम निकालने या अन्य लेन-देन करने पर ज्यादा चार्ज वसूल की इजाजत दे दी थी. अब 1 जनवरी 2022 से एटीएम से पैसा निकालने या जमा करने की फ्री सीमा के बाद ज्यादा चार्ज वसूल किया जाएगा.

Share this
Translate »