Wednesday , May 18 2022
Breaking News

प्रोफेसर शांतिश्री धुलिपुड़ी बनीं जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की नई कुलपति, जेएनयू को मिलीं पहली महिला वीसी

Share this

नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी को पहली महिला कुलपति मिल गई हैं. प्रोफेसर शांतिश्री धुलिपुड़ी को देश के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी का नया कुलपति नियुक्त किया गया है. धुलिपुड़ी इससे पहले पुणे स्थित सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थीं. यहां इनका कार्यकाल अगले पांच साल तक रहेगा. अभी तक JNU में 12 कुलपति पुरुष ही रहे हैं. शांतिश्री ने JNU से फिलॉसफी में मास्टर्स और पीएचडी की डिग्री ली है. उन्होंने 1988 में गोवा यूनिवर्सिटी से टीचिंग करियर की शुरुआत की थी. जबकि वे पुणे यूनिवर्सिटी में 1993 में पहुंची थीं.

यह पहला मौका है, जब JNU को पहली महिला कुलपति मिली है. अभी तक JNU में 12 कुलपति पुरुष ही रहे हैं. शिक्षा मंत्रालय ने शांतिश्री धूलिपुडी पंडित को जवाहर लाल नेहरू का नया कुलपति नियुक्त किया है.  इसके पहले एम जगदीश कुमार JNU के कुलपति थे, जिन्हें दो दिन पहले UGC का चेयरमैन बनाया गया है. वहीं जेएनयू के कुलपति प्रो एम जगदीश कुमार आज विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नए चेयरमैन का कार्यभार संभालेंगे.

शिक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “उनकी नियुक्ति पांच वर्षों के लिये होगी.” पिछले साल जेएनयू के कुलपति के तौर पर अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद से एम जगदीश कुमार कार्यवाहक कुलपति के तौर पर जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे थे. कुमार को अब विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

धुलिपुड़ी प्रोफेसर एम जगदीश कुमार की जगह लेंगी जिन्हें विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. पिछले साल जेएनयू के कुलपति के तौर पर अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद से एम जगदीश कुमार कार्यवाहक कुलपति के तौर पर जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे थे. एम जगदीश कुमार का जेएनयू के कुलपति के रूप में जनवरी 2016 में कार्यकाल शुरू हुआ था. एम. जगदीश कुमार सुर्खियों में रह चुके हैं. जेएनयू में 2019 में बढ़ाई गई हॉस्टल फीस को लेकर को लेकर भी एम. जगदीश कुमार सुर्खियों में रहे. स्टूडेंट्स की शिकायत थी कि उन्होंने स्टूडेंट्स से बात नहीं की.

Share this
Translate »