Thursday , October 21 2021
Breaking News

जनादेश नहीं है उपचुनाव की हार, मोदी सरकार की लोकप्रियता आज भी है बरकरार: सीतारमण

Share this

लखनऊ। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने आज उपचुनावों में भाजपा की हार पर बड़े ही सधे अंदाज में कहा कि यह हार नरेन्द्र मोदी सरकार के खिलाफ जनादेश नहीं है। उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार की लोकप्रियता आज भी वैसी ही बरकरार है। सीतारमण आज यहां पार्टी के 38वें स्थापना दिवस पर पत्रकारों से बात कर रही थीं।

उनसे जब यह पूछा गया कि जैसा कि भाजपा की उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्यप्रदेश और पंजाब की कुछ लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में हार हुई है। तो क्या माना जाना चाहिए कि पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व की लोकप्रियता घटी है।  इसके जवाब में रक्षामंत्री ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में भाजपा लगातार आगे बढ़ रही है। 28 राज्यों में भाजपा या उसके समर्थक दलों की सरकार है। भाजपा के 12 मुख्यमंत्री हैं। आठ उपमुख्यमंत्री हैं। यह एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि दरअसल उपचुनाव में स्थानीय मुद्दे हावी होते हैं। राष्ट्रीय मामलों का उपचुनाव में कोई लेना देना नहीं होता। उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार की लोकप्रियता बरकरार है।

वहीं उन्होंने कहा कि सन 1951 में मात्र 11 सदस्यों के साथ शुरु हुई‘जनसंघ’(अब भारतीय जनता पार्टी) दुनिया में सबसे बड़ा राजनीतिक दल बन गया है। 11 करोड़ से अधिक सदस्य हैं। संसद में दो सदस्य हुआ करते थे। अब पूर्ण बहुमत की सरकार है।  उन्होंने कहा कि उस समय लगता था कि भाजपा की कभी सरकार नहीं बनेगी। लेकिन, विचारधारा पर काम करते- करते श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी को यहां तक पहुंचा दिया। उन्होंने कहा कि बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता मारे जा रहे हैं। कार्यकर्ताओं का बलिदान हो रहा है। यह बलिदान बेकार नहीं जाएगा।

साथ ही कांग्रेस का नाम लिए बगैर सीतारमण ने कहा कि कितना हास्यास्पद है कि आपातकाल लगाकर तानाशाही की इन्तिहां कर देने वाले लोग आज लोकतंत्र की बात कर रहे हैं। आपातकाल में मौलिक अधिकारों का हनन कर दिया गया था। लोगों का जीना दूभर कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि केन्द्र ने चार वर्षों में 50 से अधिक महत्वपूर्ण काम किए हैं। बड़ी योजनायें बनाई हैं। यह योजनाएं आम नागरिकों के लिये उपयोगी हैं।

जबकि इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 26 मई 2014 का दिन ऐतिहासिक है क्योंकि उस दिन जनता के प्रधान सेवक के रुप में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार बनी थी। जिसने आम लोगों के हितों का ध्यान रखा। उन्होंने केन्द्र और अपनी सरकार की उपलब्धियों का सिलसिलेवार जिक्र किया। दलित सांसदों के प्रधानमंत्री को लिखे पत्रों संबन्धी सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनकी सरकार में कोई भेदभाव नहीं होता। उन्होंने कहा कि दो अप्रैल को हुए हिंसक प्रदर्शन में जिन लोगों को आगजनी और हमला करते हुए चिन्हित किया गया है, उन्हीं के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। उनकी सरकार ने दलितों के हित में बहुत काम किया है। 37 लाख तो केवल राशनकार्ड बनाए गए जिसमें ज्यादातर दलितों के हैं।

उन्होंने कहा कि बिजली चोरी रोकने के लिए व्यापक पैमाने पर कदम उठाए गए हैं। बिजली के निजीकरण का कोई प्रस्ताव नहीं है। पहले चार जिलों में बिजली मिलती थी अब हर जगह बिजली मिल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मात्र 11 सदस्यों के साथ शुरु हुई भाजपा विचारधारा की राजनीतिक पार्टी आज दुनिया में सबसे बड़ी हो गई है। इस मौके पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक समेत पार्टी के कई अन्य नेता मौेजूद थे।

 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »