Thursday , April 25 2024
Breaking News

BJP के ऐजेंडे की धार करने को कम, मायावती ने उठाया बड़ा कदम

Share this

लखनऊ। आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर सभी दलों की तरह अब बहुजन समाज पार्टी भी अपनी कमर कस चुकी है जिसके चलते बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपनी तैयारियों को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है। जाहिर सी बात है कि देश भर के अन्य राज्यों की अपेक्षा उत्तर प्रदेश पर उनकी खास नजर रहना स्वाभाविक है। वहीं भाजपा का उभरता दलित प्रेम पर भी उनका खास फोकस है।

गौरतलब है कि बसपा सुप्रीमो पिछले चुनावों से जहां न सिर्फ सबक ले चुकी हैं बल्कि वह बीजेपी की ध्रुवीकरण चाल और उसके बढ़ते दलित प्रेम से वह पूरी तरह सतर्क हो गई हैं। इसी इसके चलते ही मायावती ने बीजेपी के इस एजेंडे की धार को भांपने के लिए ही पार्टी पदाधिकारियों को उत्तर प्रदेश की ग्राउंड रिपोर्ट पेश करने को कहा है।

वहीं इस बाबत पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी की मानें तो पार्टी ने सबसे पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर फोकस किया है। पार्टी यहां पर एक सितंबर से अपनी टीम भेजकर ग्राउंड रिपोर्ट लेगी। बसपा प्रदेश अध्यक्ष हर मंडल में 2 दिन बिताकर मौजूदा माहौल की थाह लेंगे।

पार्टी सूत्र के अनुसार इतना ही नही इसके साथ ही वह संगठन के लोगों से खुली चर्चा कर बीजेपी की रणनीति की काट के लिए खाका तैयार करेंगे। उत्तर प्रदेश में बसपा का मसकद दलित, मुस्लिम और पिछड़ों को साधने पर रहेगा।

जिसके तहत ही जहां पार्टी की ओर से तय कार्यक्रम के मुताबिक, प्रदेश अध्यक्ष आर.एस.कुशवाहा 1 व 2 सितंबर को आगरा मंडल में रहेंगे। इसके बाद 3 व 4 सितंबर को अलीगढ़, 6 व 7 को बरेली मंडल और 8 व 9 मंडल को मुरादाबाद मंडल के जिलों में बीजेपी की मजबूती व कमजोरी की खोज करेंगे। कुशवाहा इसके बाद 13 व 14 सितंबर को सहारनपुर मंडल तथा 15 और 16 सितंबर को मेरठ मंडल में रहेंगे। दोनों दिन बूथ और सेक्टर स्तर तक के कार्यकर्ता से वार्ता करेंगे।

जबकि वहीं इसके बाद वह 17 से 29 सितंबर तक पूर्वी उत्तर प्रदेश का रुख करेंगे। यहां उनका दौरा आजमगढ़, वाराणसी व मिर्जापुर मंडल का रहेगा। इसी दौरान कानपुर, झांसी तथा चित्रकूट मंडल में भी वह कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। वहां पर भी वह चुनावी तैयारियों की थाह लेंगे।

Share this
Translate »