Monday , September 27 2021
Breaking News

प्रदेश में अपराधों का दौर, सरकार के लिए काबिल-ए -गौर

Share this

लखनऊ।    बेहतर कानून व्यस्वथा की आशाओं और अपेक्षाओं के साथ देश के सबसे बड़े और अहम सूबे की कमान जनता ने भाजपा को प्रचण्ड बहुमत के साथ सौपी थी। वहीं जब योगी जी ने मुख्यमंत्री के रूप में कमान सम्हाली तो लोगों को काफी हद तक यकीं भी होने लगा था कि अब तो उन्हें एक बेहतर कानून व्यवस्था मिलना तय है लेकिन आज 10 महीने की इस सरकार के दौरान जो हकीकत जनता के सामने आयी है उससे अब लोग खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। वहीं जिस तरह से हाल के कुछ वक्त में हत्या लूट बलात्कार और डकैती जैसी बड़ी घटनायें हुईं और उनमें से कई में प्रदेश पुलिस का जो रवैया रहा उससे आज प्रदेश के सभी मुख्य विपक्षी दलों को सरकार को कानून व्यवस्था के मुद्दे पर ही घेरने का मौका मिल गया।  जिसके तहत आज  राजधानी में काकोरी डकैती की घटना को लेकर विपक्ष ने योगी सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से अपराध संभल नहीं रहे हैं।
समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि योगी सरकार से उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था नहीं संभल रही है। प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। खुलेआम डकैती, लूट और हत्या को अंजाम दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लखनऊ में शनिवार रात हुई भयानक डकैती से जनता डरी हुई है।
वहीं कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता जीशान हैदर ने योगी सरकार हर हमला बोलते हुए कहा कि लखनऊ में कानून नहीं, डकैतों का राज चल रहा है। लखनऊ पुलिस की नाक के नीचे डकैती हो रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि योगी सरकार में अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा है।
उल्लेखनीय है कि लखनऊ के काकोरी थाना क्षेत्र के बनियाखेड़ा और कटौली गांव में शनिवार देर रात डकैतों ने 3 घरों में जमकर लूटपाट की। इतना ही नहीं डकैतों ने कटौली गांव के ग्राम प्रधान को बेटे को गोली मार दी, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

वहीं कानून व्यवस्था के मामले पर तमाम पुराने जानकारों के अनुसार मुख्यमंत्री योगी को अब कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बड़ी ही गंभीरता से काम करना होगा जिसके तहत सबसे पहले इस अहम मामले मे ढिलाई बरतने वाले पुलिस अधिकारियों से लेकर कर्मचारियो पर सख्त से सख्त कारवाई कर बाकियों को एक संदेश देना होगा। साथ ही सरकार की छवि को धूमिल करने वाले उन तमाम अफसरों को हटाकर जो वाकई में काबिल और लायक अधिकारी हैं उनके हाथ में कमान सौंपनी होगी और कैसे भी जनता को बेहतर कानून व्यवस्था के साथ एक सुरक्षित वातावरण देना होगा। वरना आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश में भाजपा की तस्वीर और तकदीर दोनों ही को बदलने में वक्त नही लगेगा। और इसकी जवाबदेही तो फिर योगी जी की होगी। वैसे भी उनको फिलहाल अंदर और बाहर दोनों तरह के दुश्मनो से दो चार होना पड़ रहा है।

 

 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »