Monday , April 22 2024
Breaking News

एक तरफ युवक को पुलिसकर्मी ने मारी गोली, उस पर सरकार के मंत्रियों की ऐसी बोली

Share this

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में हालात बड़े ही अजीबो-गरीब हो चले हैं जिसकी बानगी है कि प्रदेश की जनता गोली और बोली दोनों से ही बेहद त्रस्त है। दरअसल आज जहां राजधानी लखनऊ में एक पुलिसकर्मी की गोली से एक युवक की मौत हो गई वहीं इस बात पर प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों के बयान और बोली बड़ी ही खेदजनक और गैर जिम्मेदाराना रही।

गौरतलब है कि लखनऊ में निजी कंपनी के मैनेजर की मौत पर सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने सर्किट हाउस में विवादित बयान दे दिया है। मंत्री युवक की हत्या को गलत नहीं बता रहे हैं। मंत्री का कहना है कि उत्तर प्रदेश में किसी भी निर्दोष का एनकाउंटर नहीं हो रहा है। योगी सरकार में किसी एनकाउंटर में कोई गलती नहीं हो रही है। गोली उन्हीं को लग रही है जो वास्तव में अपराधी हैं। जो भी गलती करेगा उसको मारा जाएगा किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

जबकि वहीं जब इस बाबत सरकार के कानून मंत्री बृजेश पाठक का गैर जिम्मेदाराना बयान सामने आया है। उन्होंने इस मामले पर जवाब देते हुए कहा कि मैं कल लखनऊ से बाहर था। मुझे घटना की कोई जानकारी नहीं है। आज ही वापस आया हूं घटना की पूरी जानकारी कर जांच की जाएगी। एक तरह से प्रदेश की सरकार के ऐसे जिम्मेदार मंत्रियों का गैर जिम्मेदाराना रवैया साफ जाहिर करता है।

ज्ञात हो कि राजधानी लखनऊ में पुलिस ने चेकिंग के दौरान कार न रोकने पर सिपाही द्वारा गोली मारने से कार सवार की मौत हो गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि शनिवार को तड़के एक मोबाइल कम्पनी के कर्मचारी विवेक तिवारी, कार से अपनी एक महिला सहयोगी को छोड़ने उसके घर जा रहे थे तभी चेकिंग कर रहे सिपाहियों ने उनको रुकने का इशारा किया और उनके न रुकने पर पुलिस ने उन पर गोली चला दी। उन्होंने बताया कि गोली लगने से विवेक कार पर नियन्त्रण नहीं रख सका और उसकी कार अंडरपास से टकरा गई।

पुलिस के अनुसार घायल को राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचाया गया जहां अधिक रक्तस्त्राव होने के कारण मौत हो गई। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विवेक तिवारी की ठुड्ढी में गोली लगने की पुष्टि हो गई है। गोली गर्दन व सिर के बीच में फंसी थी जिसके कारण अधिक रक्तस्राव से मौत हो गई। पुलिस के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मृतक की महिला सहयोगी की प्राथमिकी के आधार पर कि गोमतीनगर थाने में सिपाहियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में एक सिपाही प्रशान्त चौधरी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

Share this
Translate »