Tuesday , January 25 2022
Breaking News

पेटीएम लाएगी 16600 करोड़ रुपये का आईपीओ, सेबी के पास जमा किए दस्तावेज

Share this

नई दिल्ली. पेमेंट कंपनी पेटीएम ने अपने 16,600 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए शुक्रवार को सेबी में अर्जी दाखिल कर दी हैं. इस आईपीओ में 8300 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल  और 8300 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू होगा. इसके अलावा कंपनी अतिरिक्त 2,000 करोड़ रुपये के शेयर जारी कर सकती है. प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिए 2000 करोड़ रुपये के इश्यू पर विचार किया जाएगा.

बता दें कि पेटीएम की पेरेंट कंपनी वन 97 कम्युनिकेशंस है. ये भारत का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा. अब तक यह रिकॉर्ड कोल इंडिया के पास था. कोल इंडिया ने करीब एक दशक पहले अपने आईपीओ से करीब 15000 करोड़ रुपये जुटाए थे. पेटीएम के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा कंपनी के प्रमोटर नही रहेंगे

पेटीएम देश की नई पीढ़ी की इटरनेट आधारित कंपनी है, जो रिटेल और संस्थागत दोनों तरह के निवेशकों के लिए आर्कषक बनी हुई है. बता दें कि इसके पहले पेटीएम के शेयर धारकों ने हाल में ही हुई एजीएम शेयरों के फ्रेश इश्यू के जरिए 12000 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दी है. इसी के साथ शेयर होल्डर्स ने इस बात की भी मंजूरी दे दी थी कि पेटीएम के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा कंपनी के प्रमोटर नही रहेंगे. उनके पास कंपनी की 20 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी नहीं है जो किसी कंपनी के प्रमोटर होने के लिए जरूरी है. विजय शेखर शर्मा के पास कंपनी की 14.61 फीसदी हिस्सेदारी है.

पेटीएम के अहम निवेशकों में चीन की अलीबाबा और एंट ग्रुप है

शर्मा कंपनी के चेयरमैन, मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर बने रहेंगे. कंपनी में ये बदलाव पहले से तय योजना का एक हिस्सा है. किसी कंपनी के प्रोफेशनली मैनेज्ड कंपनी होने के लिए जरूरी है कि उसे सेबी की मंजूरी मिले. इस नियम के तहत कंपनी में किसी भी एक कंपनी या शख्स के पास 25 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी नहीं होनी चाहिए.

पेटीएम के अहम निवेशकों में चीन की अलीबाबा और एंट ग्रप है, जिसके पास मिलाकर 38 फीसदी हिस्सेदारी है. जापान के सॉफ्ट बैंक के पास 18.73 फीसदी हिस्सेदारी है. और एलीवेशन केपिटल के पास 17.65 फीसदी हिस्सेदारी है.

Share this
Translate »