Thursday , October 21 2021
Breaking News

26 यात्री तेजस एक्सप्रेस का खाना खाने से बीमार, कॉन्ट्रैक्टर को नोटिस

Share this

मुंबई। यात्री सुविधाओं को लेकर बड़े-बड़े दावों के बाद भी सुधरती नहीं दिख रही। तभी तो गोवा-मुंबई तेजस एक्सप्रेस का खाना खाने से रविवार को 26 यात्री बीमार पड़ गए। सभी बीमार यात्रियों को इलाज के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। आईआरसीटीसी कॉन्ट्रैक्ट के जरिये इस ट्रेन में कैटरिंग की सेवा दी जाती है। ऐसे में मुसाफिरों के बीमार होने के बाद आईआरसीटीसी ने कैटरिंग कॉन्ट्रैक्टर को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आईआरसीटीसी ने साफ कर दिया है कि अगर गलती पाई गई तो कड़ी कार्रवाई होगी।

सेंट्रल रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि खाना खाने के बाद रविवार को दोपहर कुछ यात्रियों को उल्टियां होने लगीं। लगभग सवा तीन बजे बीमार यात्रियों को चिपलून स्टेशन पर उतारकर अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

ट्रेन गोवा के करमाली से मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस जा रही थी। यह कई आधुनिक सुविधाओं से युक्त देश की पहली तेजस एक्सप्रेस है। इसे 24 मई, 2017 को तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था।

आईआरसीटीसी ने ट्वीट के जरिये खाने की गुणवत्ता को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर जवाब दिया है। एक के बाद एक ट्वीट करते हुए इसने कहा कि 230 लोगों को खाना परोसा गया था। जांच के लिए इनके नमूने ले लिए गए हैं। आईआरसीटीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक एमपी मल्ल ने कहा कि मामले की जांच के लिए कैटरिग सेवाओं के निदेशक मुंबई रवाना हो गए हैं।

तेजस एक्सप्रेस शुरू होने पर इस ट्रेन में कैटरिंग सर्विस को लेकर तमाम दावे किए जा रहे थे। पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु के क्षेत्र में चलने वाली इस प्रीमियम ट्रेन में कैटरिंग के लिए खास इंतजाम करने का प्रचार किया जा रहा था। यात्रियों से अच्छा खासा कैटरिंग चार्ज भी लिया जा रहा है। इस प्रीमियम ट्रेन में एग्जीक्युटिव क्लास में कैटरिंग के लिए यात्रियों को अतिरिक्त 504 रुपये और एसी चेयरकार में 410 रुपये खर्च करने पड़ते हैं।

 

 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »