Monday , September 27 2021
Breaking News

सिरफिरे शोहदों की बढ़ती ताब, दो बेटियों पर डाला तेजाब

Share this
  • युवकों ने 2 महिला खिलाड़ियों पर तेजाब फेंक दिया
  • तेजाब पीड़ित दोनों खिलाड़ियों को अस्पताल भेजा गया

लखनऊ। एक तरफ प्रदेश की योगी सरकार बदमाशों का इनकॉउन्टर कर हालात संभालने की कोशिश में जुटी है वहीं सिरफिरे शोहदे और विक्षिप्त श्रेणी के अपराधी सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती बनते जा रहे हैं जिसके चलते प्रदेश भर में बेटियों का जीवन नारकीय बना हुआ है और वह बेहद असुरक्षा के भाव में जी रही हैं। इसी क्रम में प्रदेश में मेरठ महानगर के लालकुर्ती क्षेत्र में आज सुबह मोटरसाइकिल सवार युवकों ने 2 महिला खिलाड़ियों पर तेजाब फेंक दिया, जिससे वे झुलस गई। आनन-फानन में दोनों खिलाड़ियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
मिली जानकारी के मुताबिक सुबह करीब साढ़े पांच बजे प्रतिदिन की भांति जब बॉक्सिंग खिलाड़ी गरीमा सिंह और कुश्ती की खिलाड़ी शालू प्रैक्टिस के लिए जा रही थीं तभी लालकुर्ती इलाके में पैंठ बाजार बेगमपुल के पास सुबह मोटरसाइकिल सवार 2 युवकों ने उनपर तेजाब फेंक दिया। तेजाब गरिमा की कोहनी और शालू की कमर पर गिरा। तेजाब पीड़ित दोनों खिलाड़ियों को अस्पताल भेजा गया है। पुलिस आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है। प्रथम दृष्टया मामला आपसी रंजिश का लगता है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

गौरतलब है कि हाल ही में प्रदेश की राजधानी से सटे उन्नाव जनपद में एक युवती को जिस तरह से बदमाशों ने पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जला दिया उससे तमाम बेटियां एक बार अंदर से दहल सी गई। लेकिन इतनी बड़ी घटना होने पर भी अभी तक इसमें कोई खुलासा नही हो सका है। वहीं प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में वाराणसी में एक प्राइवेट स्कूल में एक सीनियर छात्र काफी दिनों से 7वीं की छात्रा से गंदी की गंदी हरकतों से तंग आकर अंततः छात्रा ने जहर खाकर अपनी जान दे दी। हद यह थी कि इसकी शिकायत उसने करीब 7 महीने पहले स्कूल प्रबंधन से भी की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

प्रदेश में बेटियों के लिए दिक्कतें दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हैं। हद यह है कि कई जिलों में शोहदों के आतंक के चलते जब तब कोई बेटी स्कूल छोड़ने को मजबूर हो रही है। इससे भी खौफनाक पहलू तो यह है कि इधर बीते कुछ दिनों में कई बेटियों ने शोहदों के आतंक के चलते आत्महत्या तक कर ली। कुल मिलाकर योगी सरकार के लिए सिरफिरे शोहदे और विक्षिप्त श्रेणी के अपराधी एक बड़ी चुनौती बनते जा रहे हैं।

 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »