Monday , October 18 2021
Breaking News

यादव ने अखिलेश, जाटव ने माया और ठाकुर ने योगी को चुना, मुस्लिम अपना नेता चुनें: ओवैसी

Share this

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले ही असदुद्दीन ओवैसी की एंट्री ने यहां चुनावी  माहौल गर्माना शुरू कर दिया है.प्रयागराज पहुंचकर असदुद्दीन ओवैसी ने जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान ओवैसी ने अतीक अहमद को पार्टी में शामिल करने पर कहा कि वह कानून की नजर में चुनाव लड़ सकते हैं. आने वाले विधानसभा चुनाव में अतीक अहमद आपके वोट से जरूर जीतेंगे. उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगे के आरोपियों पर दर्ज मुकदमे बीजेपी सरकार ने वापस ले लिए हैं, लेकिन इस पर मीडिया में कोई चर्चा नहीं हुई.

ओवैसी ने नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला दहशतगर्द बताया. भारत की सियासत की ये तल्ख हकीकत है. उन्होंने कहा कि जिस समाज का नेता होगा उसके मसले हल किए जाते हैं. ओवैसी इसीलिए आया है कि हमको अपना हिस्सा लेना है. आपको अपना हक कब मिलेगा. ओवैसी ने कहा कि जिस तरह से यादव ने अखिलेश को अपना नेता माना, जिस तरह से जाटवों ने मायावती को अपना नेता माना, जिस तरह से ठाकुर योगी आदित्यनाथ को अपना नेता मानते हैं, जिस तरह कुर्मी अनुप्रिया पटेल को अपना नेता मानते हैं, जिस तरह से ब्राह्मण और अन्य समाज के लोग मोदी को अपना नेता मानते हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश में मुस्लिम अखलियत की कोई आवाज ही नहीं है.

उन्होंने कहा कि याद रखो कोई आसमान और जमीन से निकलकर नहीं आएगा. आपको खुद अपने हालात तब्दील करने होंगे. अगर आप एक करवट लेंगे तो मुझे यकीन है उत्तर प्रदेश में इंकलाब होगा. मैं वादा करता हूं अल्लाह जब तक मुझे जिंदा रखेगा, उत्तर प्रदेश में एक इंकलाब पैदा होगा.

अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन की आंसुओं का वास्ता देते हुए ओवैसी ने कहा कि मेरी मां और बहनों की आंख से आंसू निकलना कम हो जाए मैं यही चाहता हूं. उन्होंने कहा कि न मोदी से डरना है, न योगी से डरना है, न अखिलेश से डरना है और न कांग्रेस से डरना है. मैं यही पैगाम देने आया हूं. मौलाना कलीम सिद्दीक़ी को लेकर ओवैसी ने कहा कि इस मामले में अखिलेश यादव नहीं बोले, क्योंकि फिर उन्हें हिंदू वोट नहीं मिलेगा.

ओवैसी ने योगी सरकार के धर्मांतरण कानून को ही गलत बताया है. उन्होंने कहा कि इस कानून के तहत कोई मुसलमान और ईसाई होता है तो उसे बताना पड़ेगा बगैर किसी फ्रॉड के उसने धर्म परिवर्तन किया. योगी सरकार का यह कानून को असंवैधानिक है. चीखकर चिल्लाकर बोलो कि यह नाइंसाफी है. हम नाइंसाफी को नाइंसाफी कहेंगे चाहे मुसलमान करे या हिन्दू करे.
उन्होंने कहा कि दोबारा किसी की भी कीमत पर यूपी में बीजेपी की सरकार न बने. मैं आप को नेता बनाने आया हूं. मैं आपको पैगाम दे कर जा रहा हूं. यह फसल काटने का वक्त है, यह बीज बोने का वक्त नहीं है. मुसलमानों को साठ साल से धोखा मिलता रहा है. आजम खान जेल में हैं. मुख्तार अंसारी जेल में है. बड़ी संख्या में मुसलमान जेलों में बंद हैं. हम फिरका परस्त को भी हरायेंगे.

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »