Monday , November 29 2021
Breaking News

त्रिपुरा: आखिरकार विप्लव देब के नेतृत्व में पहली भाजपा सरकार

Share this

अगरतला।  बिप्लब देब ने आज यहां असम राइफल्स मैदान में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। इसी के साथ पूर्वोत्तर राज्य में भाजपा की पहली सरकार का आगाज भी हो गया।

गौरतलब है कि देब ने छह मार्च को राज्यपाल तथागत राय से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था। इसके बाद राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए उन्हें आमंत्रित किया। भाजपा- इंडीजीनियस पीपल्स पार्टी ऑफ त्रिपुरा(आईपीएफटी) गठबंधन ने पिछले हफ्ते आए चुनाव परिणामों में जीत दर्ज की थी और 25 बरस के माकपा नीत वाम शासन को उखाड़ फेंका था।

वहीं आज सबसे पहले बिप्लब देव ने प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया। जबकि इस शपथ ग्रहण समारोह में लाल कृष्ण आडवाणी, राजनाथ सिंह समेत भाजपा के कई दिग्गज नेता मौजूद रहें। साथ ही इसमें भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी मुख्यमंत्रियों समेत एनडीए के मुख्यमंत्रियों को भी आमंत्रित किया गया है। इस दौरान त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री मानिक सरकार भी मंच पर राजनाथ सिंह और लाल कृष्ण आडवाणी के साथ मौजूद थे।

ज्ञात हो कि इस चुनाव में भाजपा ने 35 सीटें जीतीं, जबकि आईपीएफटी के आठ सदस्य विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए। राज्य में 60 सदस्यीय विधानसभा है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने छह मार्च को ऐलान किया था कि जिशनू देबबर्मा राज्य के उपमुख्यमंत्री होंगे। देबबर्मा की सीट पर चुनाव स्थगित हो गया था। वह चारिलम (अनुसूचित जनजाति) सीट सेचुनाव लड़ रहे थे और इस सीट पर माकपा प्रत्याशी की मौत की वजह से चुनाव नहीं हुआ। इस सीट पर अब 12 मार्च को चुनाव होगा।

वहीं आईपीएफटी के अध्यक्ष एनसी देबबर्मा ने बताया कि पार्टी को नए मंत्रिमंडल में दो सीटें मिलेंगी। इस बाबत फैसला भाजपा नेता और पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (एनईडीए) के प्रमुख हेमंत बिस्वा शर्मा के साथ बैठक में लिया गया।

Share this
Translate »