Sunday , May 22 2022
Breaking News

भारत-चीन को ट्रंप की धमकी, कहा- नहीं माने तो लगाएंगे जवाबी टैक्स

Share this

नई दिल्ली–  अमेरिकी राष्ट्रपति के इस्तपात और एल्युमिनियम आयात से जुड़े आदेश पर हस्ताक्षर करने के बाद दुनियाभर में चिंता का माहौल है. दूसरी तरफ डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और चीन जैसे देशों को अमेरिकी टैरिफ को नहीं मानने पर जवाबी टैक्स लगाने की धमकी दी है. पिछले दिनों ट्रंप ने कई बार हार्ले डेविडसन बाइक पर भारत में लगाए जा रहे 50 प्रतिशत आयात शुल्क पर पर नाराजगी जताई थी. आपको बता दें कि हार्ले डेविडसन अमेरिका की एक प्रीमियम बाइक निर्माता कंपनी है, जिसकें बाइक्स भारतीय बाजार में ऊंची कीमतों पर मिलती हैं.

ट्रंप ने कई बार कहा था कि भारत से आयात होने वाली मोटरसाइकिलों पर अमेरिका में जीरो टैक्स लगाया जाता है. उन्होंने यह भी कहा था कि अमेरिका भी भारतीय मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क लगा सकता है. ट्रंप ने कहा अगर चीन हम पर 25 फीसदी चार्ज लगाएगा और भारत 75 फीसदी चार्ज करेगा तो हम भी इसके जवाब में उतना ही टैक्स लगाएंगे. आपको बता दें कि पिछले दिनों भारत ने हार्ले डेविडसन जैसी महंगे ब्रांड की मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क को घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया था. लेकिन ट्रंप इसे घटाने की बात कह रहे हैं.

ट्रंप ने कहा था कि भारत सरकार ने हाल में आयातित मोटरसाइकिलों पर शुल्क 75 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है, जो कि सही नहीं है. उन्होंने इसे एक जैसा बनाने पर जोर दिया था. गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को ही इस्पात के आयात पर 25 प्रतिशत और एल्यूमिनियम पर 10 फीसदी शुल्क लगाने संबंधी आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं. ट्रंप के इस कदम के बाद दुनियाभर में व्यापार युद्ध छिड़ सकता है. अमेरिका का यह विवादित शुल्क 15 दिन के भीतर ही अमल में आ गया.

अमेरिका में इस्पात और एल्यूमीनियम के आयात पर शुल्क लगाने के इस कदम से शुरुआती तौर पर चीन से होने वाला आयात प्रभावित होगा. केवल दो देशों कनाडा और मैक्सिको को ही इससे छूट दी गई है. यह छूट तब तक ही होगी जब तक कि उत्तरी अमेरिका मुक्त व्यापार समझौता (नाफ्टा) को लेकर बातचीत पूरी नहीं हो जाती. ट्रंप ने आदेश पर हस्ताक्षर करने के बाद कहा कि अन्य देशों को यदि वह इस्पात और एल्यूमीनियम आयात शुल्क से छूट चाहते हैं तो उन्हें अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधियों (यूएसटीआर) से बातचीत करनी होगी.

Share this
Translate »