Friday , May 27 2022
Breaking News

जया के समर्थन में आई भाजपा की तिकड़ी, अंततः नरेश की हालत बिगड़ी

Share this

नई दिल्ली। ओछे बयानों से सस्ती लोकप्रियता हासिल करने की आदत इस बार नरेश अग्रवाल को भारी पड़ी और भाजपा की तीन महिला नेताओं की तिकड़ी के जोरदार विरोध के चलते उनको अंततः यू टर्न लेते हुए जया बच्च्न के लिए दिये गये अपने पर खेद जताना ही पड़ा। हालांकि अगर जानकारों की मानें तो यह थी वक्त और हालातों की मजबूरी जो उनके लिए ऐसा करना हो गया जरूरी वर्ना  ऐसे ही नही  माफी मांगे जाने के सवाल पर उन्होंने तल्ख लहजे में कहा कि खेद का मतलब नहीं जानते क्या? साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने जो कुछ कहा उसे मीडिया ने अलग एंगल दे दिया।

गौरतलब है कि भाजपा में शामिल होते ही जया बच्चन को लेकर दिए अपने बयान पर पार्टी के भीतर ही जोरदार विरोध झलने के बाद अब नरेश अग्रवाल ने इसे लेकर खेद जताया है। अग्रवाल का बयान आने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अलावा स्मृति ईरानी और रूपा गांगुली ने भी इसका विरोध किया था।

वहीं इसके बाद मीडिया से बात करते हुए नरेश अग्रवाल ने कहा कि अगर मेरी बात से किसी को ठेस पहुंची है तो मैं खेद व्यक्त करता हूं। जब उनसे पूछा गया कि क्या वो माफी नहीं मांगेंगे तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि आप खेद का मतलब नहीं समझते क्या?

साथ ही एक बार फिर मीडिया पर ठीकरा फोड़ते हुए और सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि मैंने जो कुछ कहा उसे मीडिया ने अलग एंगल दे दिया। मैं यही कह सकता हूं कि मैं किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहता था। मैं इसके लिए दुख जताता हूं, अगर मैंने किसी को हर्ट किया है तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूं।

बता दें कि सपा से राज्यसभा टिकट ना मिलने से नाराज नरेश अग्रवाल मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए। पार्टी की सदस्यता लेने के साथ ही उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था कि फिल्मों में काम करने वाली से मेरी तुलना कर दी गई, उनके नाम पर हमारा टिकट काट दिया, मैं इसको भी बहुत अनुचित मानता हूं। उनके इस बयान से मंच पर बैठे तमाम नेता भी असहज नजर आए थे।

इसके ठीक बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज ने ट्वीट कर नरेश अग्रवाल के बयान का विरोध करते हुए लिखा कि ‘श्री नरेश अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। उनका स्वागत है, लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है।’

वहीं स्मृति ईरानी ने कहा कि जब महिलाओं के सम्मान को चुनौती दी जाएगी, तब विचारधारा की लड़ाई छोड़ सबको एकजुट होना चाहिए। स्मृति ईरानी के अलावा रूपा गांगुली ने भी अग्रवाल के बयान का विरोध किया और कहा कि यह बयान स्वीकार्य नहीं है। मैं जया बच्चन जी का सम्मान करती हूं, फिल्म इंडस्ट्री में उनके योगदान पर मुझे गर्व है।

Share this
Translate »