Tuesday , November 30 2021
Breaking News

लचर तरीके से हाथ मिलाने वालों में हृदय रोग होने की संभावना अधिक

Share this

डेस्क! हाथ मिलाकर अभिवादन करना भारतीयों की परंपरा है। दिनभर में कितने ही लोगों से मिलते है और उनसे हाथ मिलाते है। सभी लोगों के हाथ मिलाने का अंदाज भी अलग-अलग होता है। हाथ मिलाने के तरीके से इंसान के व्यक्तित्व का पता लगता है। अगर आप किसी से लापरवाही से यानि ढ़ीला हाथ मिलाते है तो ऐसे व्यक्ति को चतुर और स्वार्थी माना जाता है।

वहीं अगर मजबूती से हाथ मिलाते है तो उन्हें अपने समान समझा जाता है। इसके अलावा हाथ मिलाने से ही व्यक्ति का आत्मविश्वास भी नजर आता है। हाल ही में एक शोध में हाथ मिलाने को लेकर एक खुलासा हुआ है। जिसमें कहा गया है कि जो लोग मजबूती से हाथ मिलाते है उनके दिल भी उतने ही मजबूत होते हैं।

शोधकर्ताओं का मनना है कि अगर मजबूती से हाथ पकड़ा जाता है तो उस समय प्रति मिनट हृदय में अच्छी मात्रा में रक्त पहुंच रहा है। ऐसे व्यक्तियों के हृदय की मांसपेशियों के पुन: आकार लेने की जरूरत नहीं होती है। हृदय की मांसपेशियों का पुन: आकार लेने का कारण उच्च रक्तचाप होता है, जो हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार होता है।

वहीं लापरवाही से हाथ मिलाने वाले लोगों को हार्ट की प्रॉब्लम होने की संभावना हो सकती है। हाथों की मजबूत पकड़ का मतलब है कि व्यक्ति का हृदय मजबूत है और उसका कामकाज भी बेहतर है। इस तरह से हृदय रोगों की आशंका का आसानी से पता लगाया जा सकता है और सैकड़ों लोगों की जिंदगी भी बचाई जा सकती है।

Share this
Translate »