Friday , September 17 2021
Breaking News

नमाज की वजह से मेरी नींद डिस्टर्ब होने लगी है – साध्वी प्राची

Share this

विवादों की शहजादी और बीजेपी की फुकी हुई कारतूस साध्वी प्राची अगर विवादित बयान न दे तो उनको नींद नहीं आती है 50 साल से नियमित रूप से सोने वाली साध्वी को बीजेपी की सरकार बनते ही अचानक रात में होने वाली नमाज के साथ सड़क पर नमाज पढ़ने से बहुत दिक्कत होने लगी है उन्होंने मोदी जी और योगी जी से तत्काल पाबंदी लगाने की मांग की है। साध्वी ने कहा कि  इस पर रोक लगाने के लिये वह बहुत जल्दसीएम योगी से मिलेंगी और इस पर रोक लगवा कर ही रहेंगी भले ही उसके लिए उन्हें कुछ भी करना पडे । साध्वी ने कहा कि अगर बीजेपी की सरकार न बनती तो उन्हें नमाज से कोई दिक्कत न होती लेकिन अब हमारी सरकार है तो सड़क पर नमाज हो य रात में, इससे मेरी व लोगों की नींद डिस्टर्ब होती है। ऐसे में यह बंद होनी चाहिये। अगर मुस्लिम समुदाय को नमाज पढ़ना है तो मस्जिद में कायदे से पढ़े यहां इलाहाबाद में साध्वी प्राची ने कहा कि राम मंदिर राष्ट्र मंदिर है और इसके निर्माण हेतु हिंदू एकजुट हों। विश्व की कोई ताकत अब राम मंदिर निर्माण नहीं रोक पायेगी क्योंकि मोदी और योगी सरकार में ही राम मंदिर का निर्माण होगा

रोहिंग्या मुसलमानों को बाहर फेंको साध्वी ने कहा कि अब भारत की ओर नजर उठाकर देखने की किसी की औकात नहीं है। जो नजर उठायेगा। उसे करारा जवाब मिलेगा। देश में ये जो रोहिंग्या मुसलमान घुस रहे हैं। ये देश इनके बाप का नहीं है और उनसे कुछ लोग जो प्रेम जता रहे हैं। इन सबको चिमटे से पकड़कर देश के बाहर फेंक दिया जाना चाहि‍ए। जो रोहिंग्या मुसलमानों को समर्थन दे, उनपर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाये। गुपचुप रहा दौरा साध्वी प्राची का इलाहाबाद दौरा काफी गुपचुप रहा। यहां वह नैनी इलाके के प्रसिद्ध घंटेश्वर हनुमान मंदिर में आई हुई थी। जहां उन्हे विशेष तौर पर पूजन और संत व्याख्यान के लिये बुलाया गया था। हलांकि मीडिया से दूरी बनाने का कारण अभी तक सामने नहीं आया है। माना जा रहा है यह उनकी निजी व्यवस्था रही होगी। हलांकि साध्वी के कार्यक्रम में बयानबाजी सोशल मीडिया पर खूब शेयर हुई तो बतौर श्रोता शामिल हुये मीडिया कर्मियों साध्वी के बयान को अपडेट करने लगे। मीडिया में खबरें आने के बाद एक बार फिर साध्वी विवादों में घिरती नजर आ रही हैं

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »