Thursday , October 21 2021
Breaking News

CBSE पेपर लीक: सरकार की जान एक नई आफत में, संदिग्ध आरोपी फिलहाल हिरासत में

Share this

नई दिल्ली। देश  में सीबीएसई पेपर लीक मामला बेहद तूल पकड़ता नजर आ रहा है जिसके तहत जहां सियासी गलियारों में हंगामा मचा हुआ है। सभी विपक्षी पार्टियों ने केंद्र सरकार पर तंज कसे है। वहीं इसके साथ ही छात्रों ने दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर पेपर के दोबारा होने पर विरोध प्रदर्शन किया है। साथ ही दिल्ली पुलिस ने भी सीबीएसई की शिकायत पर पर्चा लीक मामले में जांच तेज करते हुए पेपर लीक के मुख्य आरोपी विकी को हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लेने के बाद पुलिस आरोपी से पूछताछ की जा रही है वहीं मामले में कुछ छात्रों से भी सवाल पूछ रही है।

गौरतलब है कि पेपर लीक का मामला सामने आने के बाद अब CBSE 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा लेगा। देश-विदेश के सभी परीक्षा केंद्रों में इन विषयों की परीक्षा दोबारा ली जाएगी। परीक्षा तिथि की घोषणा सीबीएसई हफ्ते भर में करेगा। दोनों विषयों का प्रश्नपत्र लीक होने के बाद सीबीएसई ने यह फैसला लिया है।

ज्ञात हो कि पीएम मोदी ने भी पेपर लीक होने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से बात की। उधर, दिल्ली पुलिस ने भी सीबीएसई की शिकायत पर पर्चा लीक मामले में जांच तेज करते हुए पेपर लीक के मुख्य आरोपी विकी को हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लेने के बाद पुलिस आरोपी से पूछताछ की जा रही है वहीं मामले में कुछ छात्रों से भी सवाल पूछ रही है।

दूसरी तरफ विकी को हिरासत में लिए जाने के बाद उसके इस्टीट्यूट में पढ़ने वाले कई छात्र और उनके माता-पिता विकी के समर्थन में उतर आए हैं। छात्रों का कहना है कि उनके शिक्षक निर्दोष हैं और उन पर गलत आरोप लगाए जा रहे हैं। वहीं दिल्ली पुलिस ने भी अब तक 25 से ज्यादा संदिग्धों से पूछताछ की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अरोपियों की तलाश में क्राइम ब्रांच ने अपनी जांच तेज करते हुए एनसीआर के कई इलाकों में छापेमारी भी की।

इस बीच सीबीएसई ने दिल्ली पुलिस को एक महत्वपूर्ण सूचना देते हुए कहा है कि उसे 23 मार्च को दिल्ली के रजिंदर नगर में रहने वाले एक शख्स द्वारा पेपर लीक किए जाने की सूचना फैक्स के माध्यम से मिली थी। यह आरोपी शख्स एक कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाता है।

बता दें कि पेपर लीक मामले की जांच के लिए दिल्ली पुलिस ने क्राइम ब्रांच का एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया है। विशेष पुलिस आयुक्त आरपी उपाध्याय के मुताबिक, एसआईटी का नेतृत्व संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार कर रहे हैं। जांच करने वाली एसआईटी में पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) और सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) रैंक के पुलिसकर्मी शामिल हैं।

वहीं दिल्ली में छात्रों ने जंतर-मंतर पर सीबीएससी बोर्ड के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। साथ ही छात्रों ने यह मांग भी रखी है कि अगर यह परीक्षा दोबारा होती है तो सभी विषयों की परीक्षा दोबारा होनी चाहिए वरना किसी भी विषय की परीक्षा नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि बोर्ड परीक्षाओं की शुचिता और निष्पक्षता को बनाए रखने के लिए और छात्रों के हित में बोर्ड ने उक्त विषयों की दोबारा परीक्षा लेने का फैसला किया है। सर्कुलर में कहा गया कि दोबारा ली जाने वाली परीक्षाओं की तारीख की जानकारी हफ्तेभर के भीतर सीबीएसई की वेबसाइट पर डाली जाएगी।

इसके अलावा मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पेपर लीक होने पर खेद जताया है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि यह तय है कि पेपर लीक करने के पीछे कोई गिरोह योजनाबद्ध तरीके से काम कर रहा था, जो जल्द पकड़ा जाएगा। मुझे पता है कि पेपर लीक होना दुखद है।

 

 

 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »