Sunday , September 25 2022
Breaking News

राजस्थान में करने को कायापलट, अब सचिन होगें कांग्रेस के पायलट

Share this

नई दिल्ली।  पहली बार बड़ा परिवर्तन करते हुए राहुल गाँधी ने कांग्रेस अध्‍यक्ष बनने के बाद राजस्‍थान के पूर्व मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत को संगठन एवं प्रशिक्षण का प्रभारी महासचिव बनाया है। वह सोनिया गांधी के करीबी रहे जनार्दन द्विवेदी का स्‍थान लेंगे। इससे पहले अशोक गहलोत गुजरात कांग्रेस के प्रभारी थे। गुजरात चुनावों में कांग्रेस की बेहतर सफलता के लिए राहुल गांधी के साथ उनके योगदान को भी अहम माना जाता है. संभवतया इसी के पुरस्‍कार के रूप में राष्‍ट्रीय राजनीति में अहम रोल के लिए कांग्रेस अध्‍यक्ष ने उनका चुनाव किया है। इसके  साथ राहुल गांधी ने साफ संकेत दे दिए हैं कि पार्टी की तरफ से राजस्‍थान चुनाव में सचिन पायलट  ही पार्टी का मुख्‍यमंत्री चेहरा होंगे और उन्‍हीं के नेतृत्‍व में चुनाव लड़ा जाएगा।

हालांकि इसके साथ राजनीतिक विश्‍लेषकों के मुताबिक कांग्रेस अध्‍यक्ष ने एक तीर से दो निशाने साधे हैं। पहला राहुल गांधी ने पुरानी पीढ़ी के नेताओं को संकेत दिया है कि वह उनके अनुभव का लाभ लेते रहेंगे। दूसरा- इसके चलते अशोक गहलोत की भूमिका राजस्‍थान की राजनीति में अब सीमित हो जाएगी। इसी साल के अंत में वहां विधानसभा चुनाव होने हैं. इससे पहले अजमेर और अलवर लोकसभा उपचुनाव प्रदेश अध्‍यक्ष सचिन पायलट के नेतृत्‍व में पार्टी ने लड़कर जीता है। उसके बाद से ही राजस्‍थान यूनिट से सचिन पायलट को मुख्‍यमंत्री का चेहरा घोषित करने की मांग दबे स्‍वर में उठती रही है। अब अशोक गहलोत के राष्‍ट्रीय राजनीति में जाने से माना जा रहा है कि राहुल गांधी ने साफ संकेत दे दिए हैं कि पार्टी की तरफ से राजस्‍थान चुनाव में सचिन पायलट(39) ही पार्टी का मुख्‍यमंत्री चेहरा होंगे और उन्‍हीं के नेतृत्‍व में चुनाव लड़ा जाएगा।

Share this
Translate »