Tuesday , August 9 2022
Breaking News

रायबरेली: ढहाने को गांधी परिवार का किला, भाजपा ने बड़ा दांव चला

Share this

लखनऊ। जैसे जैसे 2019 के लोकसभा चुनाव करीब आते जा रहे हैं वैसे वैसे सभी सियासी दल अपनी अपनी जोर आजमाइशें तेज करते जा रहे हैं जिसके तहत वे कैसे भी अपना पक्ष मजबूत करने और विरोधी को मात देने में बखूबी जुट गये हैं। इसी क्रम में कांग्रेस के लिए एक बुरी और भाजपा के लिए अच्छी खबर की चर्चा जोरों पर है। क्योंकि जैसा कि चर्चा है कि जल्द ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में दिनेश प्रताप सिंह भाजपा में शामिल होंगे। यही नहीं उनके भाई व जिला पंचायत अध्य़क्ष रायबरेली अवधेश प्रताप सिंह भी सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी ने गांधी परिवार को उनकी रायबरेली की परंपरागत सीट पर हराने की पूरी तैयारी कर ली है। भाजपा ने पार्टी के विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह को अपने खेमे में शामिल कर लिया है। सोनिया गांधी के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है।

जैसा कि रायबरेली की सियासत में बेहद ही अहम भूमिका रखने वाले दिनेश प्रताप सिंह ने कहा कि कांग्रेस की कार्यशैली और परिवारवाद की वजह वो अब कांग्रेस में नहीं रहना चाहते हैं। भाजपा में शामिल होने के सवाल पर उन्होने कहा कि अभी जिले में अपने समर्थकों के साथ वो विचार विमर्श कर रहे हैं। समर्थकों की राय के बाद ही वो कोई कदम उठाएंगे।  लेकिन सूत्रों का मानना है कि जल्द ही वह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी भाजपा में शामिल होंगे। यही नहीं साथ ही उनके भाई व जिला पंचायत अध्य़क्ष रायबरेली अवधेश प्रताप सिंह भी सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं।

ज्ञात हो कि साल 2016 में कांग्रेस से दिनेश प्रताप सिंह एमएलसी चुनाव जीतने वाले एकलौते सदस्य थे। कांग्रेस से लगातार दूसरी बार वो विधान परिषद चुने गए। रायबरेली की जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर दूसरी बार उनके भाई अवधेश प्रताप सिंह को जीत मिली है। उनके भाई राकेश प्रताप सिंह 2017 के विधानसभा चुनाव में हरचंदपुर विधानसभा सीट से जीतकर विधायक बने हैं।

 

 

Share this
Translate »