Monday , September 27 2021
Breaking News

गैंगरेप: पंचायत के फैसले से आरोपी गुस्साया, पीड़िता को केरोसिन डाल जिंदा जलाया

Share this

नई दिल्ली। देखते ही देखते हमारा समाज क्या से क्या होता जा रहा है कि इन्सान अब तो इन्सान होने का भरम भी खोता जा रहा है। क्योंकि जिस तरह के वाक्यात हमारे सामने आ रहे हैं वो बखूबी इस बात पर अपनी मुहर लगा रहे हैं। इसी का एक ताजा उदाहरण झारखण्ड में देखने को मिला जहां गैंग रेप करने के बाद शिकायत और पंचायत किये जाने से बौखलाये जल्लादों ने एक 16 वर्षीय किशोरी को केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया।

गौरतलब है कि झारखंड के चतरा जिले में 16 साल की लड़की से कथित गैंगरेप के बाद उसके घर में उसपर केरोसिन छिड़क कर जिंदा जला देने का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने 14 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। घटना की गंभीरता को देखते हुए राजा केंदुआ गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

इस बाबत नाबालिग के पिता ने बताया की मेरी बेटी गुरुवार को अपनी चचेरी बहन की शादी में बनथु गांव गई हुई थी। तभी रात 8 बजे घन्नू भुइयां अपने चार साथियों के साथ गया और उसे उठाकर कर अपने साथ ले गया।  इसकी सूचना जब हम लोगों को हुई तो हमलोग खोजने निकले तो रात 11 बजे वह रोती हुई घर की ओर आ रही थी, उसने अपने साथ हुए घटना की जानकारी दी। शुक्रवार की सुबह हम लोगों ने पंचायत की मुखिया तिलेश्वरी देवी व पंचायत समिति सदस्य रंजय भारती को पूरे घटना की जानकारी दी।
घटना को लेकर शुक्रवार को पंचायत बुलाई गई। पंचायत में समझौता के तौर पर दुष्कर्म करने वाले युवक घन्नू भुईयां को 50 हजार रुपए का आर्थिक दंड लगाया गया। इसी बीच घन्नू भुइयां व दर्जनों लोग आक्रोशित होकर गए। पीड़ित परिवार ने बताया की वे लोग हम लोगों के साथ मारपीट करने लगे, हमारी बेटी घर में थी तभी सभी लोग खिड़की तोड़कर घर में घुस गए तथा केरोसिन छिड़ककर जिंदा जला डाला, अपनी बेटी को बचाने गई नाबालिग की मां चिंता देवी के साथ भी मारपीट किया जिससे उसका हाथ टूट गया।
वहीं नाबालिग के चचेरे भाई ने बताया की दो बाईक पर सवार चार युवक आये थे. उनमें एक घन्नू भुइयां भी था। सभी मेरी बहन को जबरदस्ती बाईक पर बैठाकर जंगल की ओर ले गए थे। पुलिस ने उस बाईक को जब्त कर लिया जिसका इस्तेमाल किया गया था।  नाबालिग के चाचा ने बताया की हमलोग पीटते रहे और मुखिया मूकदर्शक बनी रही।

हालांकि मामले को लेकर पीड़ित परिजनों की शिकायत पर ईटखोरी थाना में गांव के 14 लोगों के खिलाफ दुष्कर्म और हत्या का मामला दर्ज किया गया है। घटना के बाद सभी फरार हैं। घटना की गंभीरता को देखते हुए राजा केंदुआ गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।  वहीं डीसी ने राहत के लिए एक लाख रुपए का चेक अधिकारियों के माध्यम से पीड़ित परिवार को भिजवाया है।जबकि झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी चतरा में नाबालिग लड़की से दुष्कर्म और जिंदा जलाए जाने पर कहा है कि वो इस हृदयविदारक घटना से आहत हैं, एक सभ्य समाज में इस तरह की बर्बरता का कोई स्थान नहीं है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को तत्परता दिखाते हुए दोषियों के खिलाफ त्वरित और कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »