Sunday , September 19 2021
Breaking News

UPSC: महज दो नंबर का अंतर, अनु को लाया नंबर दो पर

Share this

डेस्क। बडी ही दिलचस्प और अहम बात है कि संघ लोक सेवा आयोग(यूपीएससी) ने 2017 के सिविल सेवा परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों की मार्कशीट में प्रथम रहे अनुदीप से महज दो नंबर के अंतर के चलते अनु कुमारी नंबर दो पर रह गईं क्योंकि प्रथम स्थान पर आने वाले डुरीशेट्टी अनुदीप को 1126 अंक मिले हैं। जबकि वहीं अनुकुमारी को 1124 अंक ही प्राप्त हो सके।

गौरतलब है कि यूपीएससी के अनुसार भारतीय राजस्व सेवा के 28 वर्षीय अधिकारी अनुदीप ने 2,025 में से 1126 अंक हासिल किए हैं। इसमें लिखित परीक्षा के 950  साक्षात्कार के 176 अंक शामिल हैं। मुख्य परीक्षा 1,750 नंबर का और साक्षात्कार 275 नंबर का होता है।

जबकि वहीं दूसरे स्थान पर रहने वाली अनु कुमारी ने कुल 55.5 फीसदी अंक के साथ कुल 1,124 अंक (937 लिखित में और 187 साक्षात्कार में)  अर्जित किया है।  इसी तरह तीसरे स्थान पर रहने वाले सचिन गुप्ता को 55.40 प्रतिशत अंक मिला जिन्होंने लिखित परीक्षा में 946 और साक्षात्कार में 187 अंक अर्जित किये।

ज्ञात हो कि संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा 2017 का परिणाम 27 अप्रैल को घोषित किया गया था। इसमें कुल 990 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुये जिसमें से 750 पुरूष और 240 महिलाएं हैं। 990वें स्थान पर रहने वाले हिमांशी भारद्वाज को 40.98 प्रतिशत अंक मिला है। उन्हें 830 नंबर मिला है (687 लिखित में और साक्षात्कार में 143 में)।

दरअसल संघ लोक सेवा आयोग हर साल लोक सेवा परीक्षाओं का आयोजन करती हैं जो तीन स्तरीय होता है।  पहला प्रारंभिक, दूसरा मुख्य और तीसरा साक्षात्कार। इस परीक्षा के तहत भारतीय प्रशासनिक सेवा ( आईएएस ), भारतीय विदेश सेवा ( आईएफएस ) और भारतीय पुलिस सेवा सहित अन्य सेवा के लिए अधिकारियों का चयन किया जाता है।

इसी क्रम में विगत 18 जून 2017 को सिविल सेवा ( प्रारंभिक ) परीक्षा 2017 आयोजित किया गया था। कुल 9,57,590 परीक्षार्थियों ने आवेदन किया था और 4,55,625 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए थे।  अक्टूबर-नवंबर 2017 में आयोजित लिखित परीक्षा (मुख्य) के लिए 13,366 अभ्यर्थिेयों का चयन किया गया था। फरवरी-अप्रैल 2018 में आयोजित साक्षात्कार या व्यक्तित्व परीक्षण के लिए 2,568 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए थे।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »