Friday , September 17 2021
Breaking News

पाक द्वारा जारी गोलाबारी में दो की मौत और तीन घायल

Share this

जम्मू ।  रमजान जैसे पाक महीने में भी पाक अपनी नापाक हरकतों से बाज नही आ रहा है भारत के द्वारा संयम बरते जाने का नाजायज फायदा उठा रहा है। जिसके चलते जम्मू के कई क्षेत्रों में पाकिस्तान की ओर से लगातार सीजफायर का उल्लघंन जारी है। पाक द्वारा की गई गोलाबारी में जहां दो लोगों की मौत हो गई वहीं तीन घायल हुए हैं।

गौरतलब है कि जम्मू के आरएस पुरा और कठुआ सेक्टरों में अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगे आवासीय इलाकों में पाकिस्तानी रेंजरों की ओर से भारी गोलाबारी की गई। इस गोलीबारी में दो नागरिकों की मौत हो गई व तीन घायल हुए हैं। साथ ही पाकिस्तानी सेना ने आरएस पुरा, अरनिया और अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर रामगढ़ सेक्टर में अग्रिम सैन्य चौकियों तथा ग्रामीण इलाको को निशाना बनाकर भारी गोलाबारी की।

जबकि इससे पहले भी पाक सेना ने मंगलवार को जम्मू और सांबा सेक्टरों में सीमा पर ग्रामीण इलाकों तथा अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया, इस गोलाबारी में कम से कम 13 नागरिक घायल हो गए और 20 से अधिक सीमा चौकियों को नुकसान पहुंचा है।

वहीं इस सिलसिले में आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सोमवार शाम सात बजे के बाद पाकिस्तानी रैंजर्स ने अरनिया सेक्टर में भारी मोर्टार गोलाबारी की जो मंगलवार रात तक जारी रही। इसके बाद बुधवार को भी पाक की ओर से फायरिंग की गई।

हालांकि पाकिस्तानी गोलाबारी को देखते हुए जिला प्रशासन ने आरएस पुरा और अरनिया में सरकारी इमारतों में अस्थायी राहत एवं विश्राम शिविर बनाए हैं जहां नागरिकों को ठहराया जा रहा है। इन शिविरों में सीमा पर प्रभावित गांवों के 500 से अधिक लोग रूके हुए हैं।

इसके साथ ही गोलीबारी में घायल नागरिकों को तुरंत अस्पताल पहुंचाने के लिए सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ )और जिला प्रशासन के कर्मचारी लगे हुए हैं। सूत्रों ने कहा कि बीएसएफ पाकिस्तान की ओर से की जा रही गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

वहीं बताया जाता है कि लगातार जारी इस गोलाबारी के चलते स्थानीय लोग दहशत में हैं। सीमांत क्षेत्रों में इस समय सन्नाटा पसरा हुआ है। फायरिंग के चलते 40 हजार लोग विस्थापित किए गए हैं। प्रशासन द्वारा बनाए गए मेकशिफ्ट शिविरों में कुछ लोगों ने शरण ले रखी है जबकि अन्य अपने रिश्तेदारों के घरों में शरण लिए हुए हैं।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »