Sunday , September 25 2022
Breaking News

टीईटी पास अभ्यर्थियों और पुलिस के संघर्ष में दर्जनों घायल

Share this

लखनऊ। सरकार की असंवेदनशीलता के चलते आखिरकार बीएड टीईटी अभ्यर्थियों का संयम आज टूट ही गया जिसके परिणाम स्वरूप शांतिपूर्वक जारी विरोध प्रदर्शन आज अचानक उग्र रूप धारण कर न सिर्फ पुलिस और अभ्यर्थियों के बीच हिंसक संघर्ष का रूप धारण कर बैठा बल्कि इसके चलते जहां पुलिस की लाठी से तमाम अभ्यर्थी बुरी तरह जख्मी हो गये हैं। वहीं इस दौरान तमाम राहगीरों को भी चोटें आई हैं तथा कई बसें भी क्षतिग्रस्त हो गई हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक आज जब बीएड टीईटी अभ्यर्थी अपनी मांगों को लेकर विधानसभा का घेराव करने के लिए आगे बढ़े तभी कैंट क्षेत्र में अचानक पुलिस और उनके बीच अचानक विवाद होने लगा जो कि बाद में हिंसक संघर्ष के रूप में तब्दील हो गया जिसके चलते जहां पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दी वहीं अभ्यर्थियों ने भी पथराव शुरू कर मोर्चा लेना चाहा जिससे पूरे इलाके में भगदड़ और अफरातफरी का माहौल हो गया।

प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों पर पथराव कर दिया। पथराव में इंस्पेक्टर कृष्णानगर अंजनी कुमार पांडेय समेत आधा दर्जन से अधिक पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। पुलिस पर हुए हमले की सूचना मिलते ही कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। लेकिन प्रदर्शनकारी पुलिस पर भारी पड़ गए। नतीजन पुलिस को सेना बुलानी पड़ी और प्रदर्शनकारियों को कैंट थाना क्षेत्र स्थित इको गार्डन के पास सेना ने सभी प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया।

घायल सभी पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है इनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। पुलिस के लाठीचार्ज में कई प्रदर्शनकारी भी घायल हुए हैं। प्रदर्शकारियों ने कहा कि सरकार बनने से पहले बीजेपी लगातार कहती चली आ रही थी कि उनकी सरकार बनने के बाद टीईटी पास अभ्यर्थियों को वह रोजगार उपलब्ध कराएगी। किन्तु बीजेपी सरकार के एक साल से अधिक बीत जाने के बावजूद भी आज तक हमारी मांगे मानी नहीं गयी हैं। उल्टा हमारे सवाल उठाने पर हमें नौकरी की जगह लाठियां मिली है।

बताया जाता है कि जहां इस संघर्ष में तमाम अभ्यर्थियों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है वहीं कई पुलिस कर्मी भी घायल हुए हैं। हालांकि घायलों में अभ्यर्थियों की संख्या अधिक बताई जाती है। इस संघर्ष में जहां कई बसें क्षतिग्रस्त हो गईं वहीं तमाम अन्य वहान चालक अपने वाहन छोड़ भागने को मजबूर हो गए। इस दौरान काफी देर तक पूरा इलाका दहशत की गिरफ्त में बना रहा।

Share this
Translate »