Monday , October 3 2022
Breaking News

अग्नि-5 का सफल परीक्षण, जद में आए चीन-पाकिस्तान

Share this

नई दिल्ली। भारत ने स्वदेश में विकसित, परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल ‘अग्नि-5’ का आज सफलतापूर्वक परीक्षण किया।  ओडिशा में अब्दुल कलाम आइलैंड पर रविवार की सुबह 9 बजकर 48 मिनट पर इंटिग्रेटेड टेस्ट रेंज से अग्नि-5 का सफल परीक्षण किया गया। सूत्रों के मुताबिक, यह मिसाइल चीन तक मार करने की क्षमता रखती है।

यह मिसाइल बहुत शक्तिशाली है। इस मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद माना जा रहा है कि इसकी जद में पूरा पाकिस्तान और चीन आएंगे। परमाणु क्षमता वाली अग्नि-5 मिसाइल करीब 5000 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी तक वार कर सकती है।

इस मिसाइल के साथ ही भारत काफी लंबी दूरी तक वार करने वाले बलिस्टिक मिसाइलों से लैस देशों के ग्रुप में शामिल हो जाएगा। गौरतलब है कि इस मिसाइल का परीक्षण इससे पहले भी कई बार परीक्षण किया जा चुका है।

परीक्षण के दौरान मिसाइल ने अपनी पूरी दूरी तय की। उन्होंने बताया कि मिशन के दौरान रडार, सभी ट्रैकिंग उपकरणों एवं निगरानी स्टेशनों से मिसाइल के हवा में प्रदर्शन पर नजर रखी गयी और उसकी निगरानी की गई। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक अधिकारी ने बताया कि ‘अग्नि-5’ नौवहन एवं मार्गदशन, वार.हेड एवं इंजन के संदर्भ में नयी प्रौद्योगिकी से लैस अत्याधुनिक मिसाइल है।

ज्ञात हो कि अग्नि-5 में 10 खूबियां गजब की खूबियां हैं। जिसके तहत जहां

  • अग्नि-5 के सफल परीक्षण के बाद अपना देश भारत अमेरिका, रूस, चीन और फ्रांस के साथ इंटर कॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) क्लब में शामिल हो गया है।
  • इस मिसाइल की प्रहार क्षमता घातक है। यह 20 मिनट में 5000 किमी. की दूरी तय कर लेगी। डेढ़ मीटर के लक्ष्य का भी भेदन करने में सक्षम है।
  • यह मिसाइल देश के सामरिक रणनीति में बड़ा बदलाव लाएगी। पूरा एशिया और अफ्रीका महाद्वीप तथा यूरोप के अधिकांश हिस्से इसकी जद में होंगे। अमेरिका इसके दायरे से बाहर है।
  • यह मिसाइल एक बार छूट गई तो रोकी नहीं जा सकती है। यह 1000 किलो का न्यूक्लीयर वारहेड ले जाने में सक्षम है।
  • यह भारत के मिसाइल तरकश में सबसे लम्बी दूरी तक प्रहार करने वाला प्रक्षेपास्त्र है।
  • अग्नि-5 मिसाइल कैमिस्टर से छोड़ी जा सकती है। इसे सड़क के रास्ते कहीं भी पहुंचाया जा सकता है। इस खुबी के कारण इस मिसाइल को दुश्मन उपग्रह निगाहों से भी बचाया जा सकता है।
  • इस मिसाइल के तकनीक का इस्तेमाल भारत दुश्मन के उपग्रह को भी नष्ट करने में कर सकता है।
  • इस मिसाइल से हमें पलटवार की बेमिसाल ताकत हासिल होगी। इसकी कमान स्ट्रेटिजिक फोर्सेस कमान के हाथ में होगी।
  • 17 मीटर ऊंची इस मिसाइल में 7 किमी. लम्बी वायरिंग है। यह मिसाइल तीन स्टेज में मार करेगी।
  • भारत के पास अभी सबसे अधिक दूरी तक मार करने वाली मिसाइल अग्नि-4 थी, जो कि 3500 से 4000 किमी. तक मार करने की ताकत रखती है।
Share this
Translate »