Wednesday , July 6 2022
Breaking News

बेकाबू बस से कुचलकर सात छात्रों की दर्दनाक मौत, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से 4 मरे

Share this

लखनऊ।   रफ्तार और लापरवाही के चलते रोज ही जाने कितने लोग असयमय काल का शिकार बन रहे हैं बावजूद इसके भी कोई सबक नही ले रहा है जिसकी बानगी है कि आज फिर प्रदेश के दो अलग अलग सड़क हादसों में तकरीबन एक दर्जन लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं आधा दर्जन से अधिक घायल हो गए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर आज सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। जहां कन्नौज के पास  तेज़ रफ़्तार रोडवेज बस ने 12 छात्रों को कुचल दिया। छात्र संतकबीर नगर के खलीलाबाद से हरिद्वार जा रहे थे।  इस हादसे में छह छात्र और एक शिक्षक की दर्दनाक मौत हो गई जबकि तीन छात्र घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। मरने वाले सभी छात्र बीटीसी की पढ़ाई कर रहे थे।

बताया जा रहा है छात्रों का ग्रुप संतकबीर नगर के खलीलाबाद के प्रभा देवी महाविद्यालय से एजुकेशन टूर पर हरिद्वार जा रहा था। अलग-अलग 10-12 बसों में 550 छात्र सवार थे। यहां सोमवार की सुबह करीब चार बजे एक्सप्रेस-वे पर तिर्वा कोतवाली क्षेत्र में एक या दो बसों में ईंधन खत्म होने या किसी तकनीकी खराबी के कारण सभी बसों को किनारे खड़ा कर दिया गया था। उन्ही बसों में सवार छात्र और शिक्षक नीचे उतर कर टहल रहे थे।

इसी दौरान पीछे से आई रोडवेज बस ने टहल रहे छात्रों, शिक्षक और बस स्टाफ को कुचल दिया। जिसमें से पांच छात्र और एक शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गई। जख्मियों को तिर्वा के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। रास्ते में एक और छात्र की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने जख्मियों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया है। पुलिस ने हादसे की जानकारी संतकबीरनगर पुलिस को दे दी है।

इसी तरह प्रदेश के महाराजगंज में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्राली बेकाबू होकर नहर में गिर गई। इस भीषण हादसे में 3 महिलाओं सहित 4 लोगों की मौत हो गई है। वहीं आस-पड़ोस के तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने राहत बचाव कार्य शुरू किया और मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के मुताबिक मरने वाले सभी भारत के ठूठीबारी थाना क्षेत्र के रहने वाले थे। वहीं नहर में पलटे ट्रैक्टर-ट्राली को जेसीबी मशीन के जरिए बाहर निकाला गया। महिलाएं ट्राली के नीचे दबी हुई थीं। तीनों शव को बाहर निकाला गया और गंभीर रूप से घायल चालक को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नौतनवा में भर्ती कराया गया, जहा उसकी मौत हो गई।

Share this
Translate »