Monday , October 18 2021
Breaking News

DGP का गाजियाबाद प्रवास, चंद घण्टों में हुआ बहुत कुछ खास

Share this

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पुलिस मुखिया ओ पी सिंह ने जहां गाजियाबाद पहुंच कर बच्चों को समर कैंप में सुरक्षा, कानून, सफाई और फिटनेस की जानकारी देते हुए बेहतर नागरिक बनने का पाठ पढ़ाया। साथ ही पुलिस लाइन में आयोजित कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

गौरतलब है कि इस दौरान सिंह ने कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसके साथ ही 100 की 109 बाइकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। समीक्षा बैठक में अपर पुलिस महानिदेशक कार्मिक, मरेठ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एटीएस एवं एसटीएफ के अधिकारी भी मौजूद थे।

वहीं जबकि बैठक से पूर्व डीजीपी ने नई पहल के साथ समर कैंप में आए बच्चों से कानून व्यवस्था सफाई और फिटनेस से जुड़े विषयों पर बातचीत की। इस दौरान उन्होंने बच्चों को टीचर के अंदाज में कई तरह की ज्ञानवर्धक बातें बतायीं।  उन्होंने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि जो आज बच्चे हैं वह कल देश के नागरिक बनेंगे उनको बेहतर नागरिक बनाने के लिए बच्चों के साथ संवाद बेहद जरूरी है यह समर कैंप संवाद और शिक्षा का एक जरिया साबित होगा ऐसी उम्मीद की जानी चाहिए।

इसके साथ ही इस दौरान डीजीपी ने कहा कि पुलिस समर कैंप बेहद सफल रहा है। इस सफलता को देखते हुए दिसंबर में राज्य के सभी जिलों में शरद कालीन कैंप का आयोजन किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि पुलिस समर कैंप लखनऊ, कानपुर नगर, झांसी, आगरा, अलीगढ़, इलाहाबाद, गोरखपुर, मेरठ बरेली, मुरादाबाद, गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद समेत 12 जिलों में यूनीसेफ के सहयोग से आयोजित किया गया जिसमें करीब 1000 बच्चों ने भाग लिया। समर कैंप की शुरुआत गत 12 जून से की गई थी जिसका मंगलवार समापन किया गया।

हालांकि डीजीपी तकरीबन करीब चार घंटे से अधिक समय यहां पर रूके।  इस दौरान उन्होंने गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर पुलिस लाइन के अलावा कई अन्य जगहों पर कार्यक्रमों में शिरकत की। उन्होंने डायल 100 की 109 बाइकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के बाद कहा कि कंट्रोल रूम पर पुलिस को कई ऐसे इलाकों से शिकायत मिलती है जहां पुलिस की गाड़ी पहुंचने में काफी दिक्कत आती है। ऐसे इलाकों में बाइक सवार पुलिसकर्मी आम आदमी की सहायता के लिए जल्दी पहुंच सकता है इसी उद्देश्य के साथ आज कंट्रोल रूम से जुड़े बायको को रवाना किया है।

उन्होंने कंट्रोल रूम के माध्यम से प्राथमिकी दर्ज करने की भी शरुआत की। पीआरवी द्वारा गंभीर अपराधों को छोड़कर वाहन चोरी, स्नैचिंग आदि की एफआईआर अंकित की जा सकती है। सिंह ने गाजियाबाद जिले में थाना कविनगर क्षेत्र के हापुड़ चुंगी से राज्य के प्रथम एकीकृत ई-चालान निर्गमन प्रणाली इंटीग्रेटेड ई चालान सिस्टम का शुभारंभ किया। इस प्रणाली से यातायात संबन्धी काटे गये चालान का शमन शुल्क स्वाइप मशीन के माध्यम से मौके पर ही एटीएम/डेबिट कार्ड आदि से भुगतान किया जा सकता है, जिसकी जानकारी एसएमएस के माध्यम से तत्काल शुल्क अदाकर्ता को मोबाइल पर प्राप्त होगी।

सिंह ने विभिन्न अवसरों पर सराहनीय एवं उल्लेखनीय कार्य करने के लिए पुलिस अधीक्षक नगर, क्षेत्राधिकारी नगर, अपर पुलिस अधीक्षक अपराध सहित 64 अधिकारियों और कर्मचारियों को पुलिस महानिदेशक ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। उन्होंने लोनी में बोरवेल में फंसे बच्चे और युवक को सकुशल निकालने वाली पुलिस टीम को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »