Monday , April 22 2024
Breaking News

मोदी बोले- गर प्रकृति प्रेमी हो देश का जन-जन, स्वतः प्रकृति प्रदत्त चीजों में आ जायेगा संतुलन

Share this

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रविवार को 46वीं बार मन की बात कार्यक्रम में लोगों से इको फ्रेंडली गणेशोत्सव मनाने समेत महापुरुष लोकमान्य तिलक, चंद्रशेखर आजाद, महाकवि गोपालदास नीरज समेत कई पर बातचीत की। उन्होंने इस कार्यक्रम में लोगों से 10 खास बातें की:

1- हम सबका दायित्व बनता है कि हम प्रकृति प्रेमी बने, प्रकृति के रक्षक बने, प्रकृति के संवर्द्धक बने, तो प्रकृति प्रदत्त चीजों में अपने आप संतुलन बना रहता है।

2- अगस्त महीना इतिहास की अनेक घटनाएं, उत्सवों की भरमार से भरा रहता है। मैं आप सभी को उत्तम स्वास्थ्य के लिए, देशभक्ति की प्रेरणा जगाने वाले, अगस्त महीने के लिए और अनेक उत्सवों के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।

3- मन की बात कार्यक्रम में महाकवि गोपाल दास नीरज को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा, नीरज जी की एक विशेषता रही थी, आशा, भरोसा, दृढसंकल्प, स्वयं पर विश्वास हर बात प्रेरणा दे सकती है।

4- गरीब परिवारों से विपरीत परिस्थितियों के बावजूद कितने ही छात्रों ने अपनी मेहनत और लगन से कुछ ऐसा कर दिखाया है, जो हम सबको प्रेरणा देता।

5- स्मार्टगांव एप के बारे में कहा कि यह एप न केवल गांव के लोगों को पूरी दुनिया से जोड़ रही है बल्कि अब वे कोई भी जानकारी और सूचना स्वयं खुद के मोबाइल पर ही प्राप्त कर सकते हैं।

6- घर छोड़कर पहली बार बाहर कॉलेज पढ़ने के छात्र-छात्राओं से पीएम ने कहा कि जो युवा अपने घर को छोड़कर बाहर पढ़ने गए हैं, वे वहां के बारे में जानें। वहां के पर्यटन स्थलों को जानना चाहिए। कॉलेज शुरू कर रहे युवाओं को पीएम मोदी ने शुभकामनाएं दीं।

7- महापुरुष लोकमान्य तिलक के बारे में कहा कि अंग्रेज लोकमान्य तिलक से काफी डरे हुए थे। अक्टूबर 1916 में लोकमान्य तिलक जब अहमदाबाद आए थे तो तकरीबन 40 हजार लोगों ने उनका स्वागत किया था। तिलक के निधन के बाद सरदार वल्लभ भाई पटेल ने लोकमान्य तिलक के स्मारक के लिए विक्टोरिया गार्डन को चुनाव। अंग्रेज इस निर्णय से सहमत नहीं थे। लेकिन सरदार पटेल ने स्मारक लगवाई और महात्मा गांधी से इसका उद्घाटन कराया। इस प्रतिमा में तिलक एक कुर्सी पर बैठे हुए हैं और उनकी कुर्सी पर लिखा है कि स्वराज हमारा अधिकार है।

8- मन की बात में प्रिंस कुमार, नागपुर की खुशी, गुड़गांव की दिव्यांग बेटी अनुष्का जैसे आदि छात्र-छात्राओं का नाम लिया। पीएम मोदी ने कहा कि इन सभी ने दृढ़ संकल्प से कामयाबी हासिल की।

9- जुलाई और अगस्त का महीना किसानों और सभी नौजवानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। यही वह समय होता है जब कॉलेज का पीक सीजन होता है।

10- मोदी ने कहा कि पिछले दिनों थाईलैंड में 11 खिलाड़ी और एक कोच गुफा में घूमने गए थे। इसी दौरान भारी बारिश के कारण वे गुफा में 18 दिन तक फंसे रहे। दुनियाभर के लोग उनके लिए प्रार्थना कर रहे थे। हर कोई सोच रहा था कि बच्चे कहां हैं। हर स्तर पर जिम्मेदारी का एक अहसास था और वह अद्भुत था।

Share this
Translate »