Tuesday , November 30 2021
Breaking News

महीने भर की परी, अपनों के ही हाथों मरी

Share this
  • समाज में कई जगह आज भी बेटी पैदा करना मना
  • पैदा हो भी जाए तो मौत या फिर कूड़ाधर उसके लिए बना

लखनऊ। यह कैसी अजब विडम्बना है कि समाज में कई जगह आज भी बेटी पैदा करना मना है और अगर पैदा हो भी जाए तो मौत या फिर कूड़ाधर उसके लिए बना है। गौरतलब है कि जहां  एक ओर देश के प्रधानमंत्री बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देते हुए बच्चियों को बढ़ावा देने पर जोर दे रहे हैं वहीं बेटे की चाह रखने वाले लोग या तो मासूम बच्चियों को मौत के घाट उतार रहे हैं या फिर जब तब अन्यत्र कहीं कूड़े के ढेर में फेंकने से बाज नही आ रहे हैं।

ऐसा ही एक दिल दहलाने वाला बेहद ही शर्मनाक और खौफनाक मामला प्रदेश के जनपद बलरामपुर में सामने आया है। जहां एक कलयुगी बाप ने सिर्फ इसलिए अपनी एक महीने की बच्ची को बेहरमी से मौत के घाट उतार दिया क्योंकि वह खुद और उसका परिवार बेटा चाहते थे।
मिली जानकारी के मुताबिक मामला तुलसीपुर थाना क्षेत्र का है। यहां के निवासी राजेश चौहान ने 2014 में संगीता से शादी की थी। शादी होते ही राजेश और उसके माता-पिता बेटे की रट लगाए रहते थे। मृतक बच्ची की मां ने बताया कि 4 साल बाद मैंने जनवरी में एक बेटी को जन्म दिया।
वहीं संगीता ने बताया कि ससुरालीजन लगातार बच्ची को फेंकने की बात कहते रहे, लेकिन मैं नहीं मानी। संगीता ने बताया कि मुझे ऐसा लगा कि यह हमारे घर की पहली औलाद है। इसके मासूम चेहरे को देखकर सभी का दिल पिघल जाएगा, लेकिन उनके अंदर कुछ और ही चल रहा था।
संगीता ने बताया कि मैं अपनी बेटी को सास के हाथों सौंप कर सुबह 5 बजे किचन के काम से घर से बाहर गई थी। लेकिन जब घर लौटी तो बेटी का मुंह खून से सना था। उसे देखते ही मेरी चीख निकल गई। इन तीनों ने मिलकर मेरी फूल सी बेटी को हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया। उसका कसूर बस इतना सा था कि वो एक लड़की थी, लड़का नहीं।

हद की बात यह है कि विरोध करने पति  ने धमकी दी है कि मामला यहीं खत्म कर दो। किसी से कहा तो तुम भी नहीं रहोगी। इतना ही नहीं संगीता ने जब इसका विरोध किया तो सास-ससुर ने उसे जमकर पीटा। और ससुराल वाले संगीता को भी मारने की कोशिश करने लगे। ऐसे में वह बामुश्किल अपनी जान बचा कर वहां से भाग निकली। जिसके बाद पीड़ित संगीता अपने परिजनों को साथ लेकर थाने में पहुंची। यहां उसने पति और सास ससुर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार ने बताया कि केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

 

Share this
Translate »