Friday , January 28 2022
Breaking News

यूपी के बहराइच में 7 महीने बाद बहु आई थी ससुराल, चाय में जहर मिलाकर पूरे परिवार को पिलाया, 2 साल के मासूम की मौत, 4 की हालत गंभीर

Share this

बहराइच. उत्तर प्रदेश के बहराइच में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. यहां पूरे परिवार को खत्म करने के लिए बड़ी बहू ने चाय में जहर मिलाकर सभी को पिला दिया. चाय पीते ही 5 लोगों की हालत बिगड़ गई. इलाज के दौरान 2 साल के मासूम की मौत हो गई, जबकि 4 लोगों की हालत अभी भी नाजुक है. इनका मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है. डॉक्टर ने फूड प्वाइजनिंग की आशंका जताई थी, लेकिन पुलिस की पड़ताल में मामला हत्या की कोशिश का निकला. आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है. पूछताछ में उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है.

एसपी सुजाता सिंह के मुताबिक, थाना कोतवाली देहात के मछियाही गांव में सोमवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे की घटना है. अंकिता पत्नी पूरन जायसवाल को हिरासत में लिया गया है. पूछताछ में अंकिता ने बताया कि उसकी शादी दिसंबर 2020 में पूरन के साथ हुई थी. शादी के बाद से ही वह पति के साथ ससुराल में नहीं रहना चाहती थी. रक्षाबंधन के दिन मायके से ससुराल आई थी. साथ में, जहर भी लाई थी. वहीं, उसके देवर जितेंद्र ने आरोप लगाया है कि मायके में भाभी का किसी के साथ प्रेम-प्रसंग था. 7 महीने से वह लोगों के साथ नहीं रह रही थी. घटना के वक्त पति पूरन खेत पर काम करने के लिए गया था. आरोपी महिला का मायका पक्ष मजदूरी पेशे से जुड़ा है.

चाय पीते ही होने लगीं उल्टियां

आरोपी अंकिता ने घर के सभी सदस्यों को चाय दी. बच्चे पहले चाय पीने लगे इसलिए उनकी तबीयत भी पहले बिगड़ी. पंचराम, जितेंद्र, सृष्टि, शिवांशी व रुद्रांश को उल्टियां होनी शुरू हो गईं. जो बंद नहीं हो रहीं थीं. अस्पताल ले जाने पर रुद्रांश को नहीं बचाया जा सका.

वहीं, पूरन के छोटे भाई जितेंद्र जायसवाल का कहना है, हम लोगों को जानकारी थी, कि भाभी का मायके में किसी से प्रेम प्रसंग है, लेकिन वह जहर मिलाकर सबको मारने की कोशिश करेगी. यहां तक नहीं सोचा था. बाकी लोग काम में लगे हुए थे. जितेंद्र ने बताया कि मेरे अलावा घर पर मां-पिताजी, बहन, बहन का बेटा और बेटी, भाई धर्मेंद्र, उनकी बेटी मौजूद थे. अच्छा हुआ जो सभी ने एक साथ चाय नहीं पी.

इसलिए मारना चाहती थी सभी को

पूरन की पत्नी अंकिता सभी को मार डालना चाहती थी. इसके लिए बकायदा उसने साजिश रची थी. रक्षाबंधन के दिन वह अपनी ससुराल पहुंची. मायके से ही जहर लेकर आई थी. पति पूरन को भी भनक नहीं लगने दी. पूरने के मंझले भाई धर्मेंद्र का कहना है कि यह नहीं पता कि वह सबको क्यों मारना चाहती थी, लेकिन एक बात समझ में आ रही है कि सबको मार कर वह अपने प्रेमी के साथ या तो सामान लेकर भाग जाती या यहीं रहती.

इनकी हालत गंभीर

पंचराम जायसवाल (55 ) पुत्र रामपाल, जितेंद्र जायसवाल (28) पुत्र पंचराम, सृष्टि (04) पुत्री धर्मेंद्र, शिवांशी (15) पुत्री राजेश जायसवाल.

Share this
Translate »