Sunday , October 24 2021
Breaking News

UPSC के गजब टॉप 5 की अजब है कहानी

Share this

डेस्क।  कल देर शाम जारी हुए यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन (UPSC) के नतीजों में जहां हैदराबाद के रहने वाले अनुदीप डुरीशेट्टी ने UPSC टॉप किया है। वहीं यूपीएससी के जारी नतीजों में पहले 5 स्थानों पर हरियाणा के 3 होनहारों का कब्जा है। जिसके तहत हरियाणा के सोनीपत की अनु कुमारी दूसरे और सिरसा के सचिन गुप्ता तीसरे स्थान पर हैं। पांचवें स्थान पर हरियाणा के ही महेंद्रगढ़ के प्रथम कौशिक हैं। चौथे स्थान पर बिहार में आरा के रहने वाले अतुल प्रकाश आए हैं।

ज्ञात हो कि UPSC की ओर से जारी परिणाम के मुताबिक, कुल 990 छात्र सफल हुए हैं, जिनमें जनरल कैटिगरी के 476 छात्र हैं। वहीं, ओबीसी कैटिगरी के 275 और एससी के 165 और एसटी के 74 स्टूडेंट छात्र पास हुए हैं। इन नतीजों में बाजी मारने वाले सभी की अगर बात की जाये तो तकरीबन कहीं न कहीं सबकी अपनी एक अलग और बेहद गौर करने वाली दिलचस्प कहानी है।

जैसे कि UPSC की ओर से घोषित किए गए सिविल सर्विस फाइनल रिजल्ट 2017 में टॉप करने वाले 28 वर्षीय अनुदीप डुरीशेट्टी ने अपने आखिरी प्रयास में ये रैंक हासिल किया है। टॉप करने वाले अनुदीप ओबीसी उम्मीदवार हैं और परीक्षा में उनका वैकल्पिक विषय आंथ्रोपोलोजी था।  अनुदीप डुरीशेट्टी ने बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉल्जी एंड साइंसेज, पिलानी (बिट्स पिलानी) से इलेक्टॉनिक्स एंड इंस्ट्रुमेंटशन में ग्रेजुएशन किया है। वर्तमान में वह भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) में असिस्टेंट कमिश्नर पद पर तैनात हैं।

अपनी सफलता के बारे में बात करते हुए अनुदीप ने कहा कि  आईएएस बनने का मेरी कोशिश इसके बाद भी नहीं रुकी। मैंने तैयारी करते हुए यूपीएससी की परीक्षा दी लेकिन अगले दो प्रयास भी खाली गए। इस साल मेरा आखिरी प्रयास था और भगवान की दया से मैंने इस परीक्षा में टॉप कर लिया।उन्होंने कहा कि यह सफर पूरी तरह रोमांचक रहा और तथ्य ये है कि मैं अब एक टॉपर हूं।

हरियाणा की बेटियां खेलों में ही नहीं बल्कि पढ़ाई में भी अव्वल हैं। मन में कुछ करने की चाह हो तो कुछ भी करना मुश्किल नहीं है। यहीं बात हरियाणा का बहू अनु कुमारी ने सच कर दिखाई।  सोनीपत की अनु कुमारी ने दूसरे स्थान पर कब्जा किया है और लड़कियों में टॉपर हैं। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से फिजिक्स से बीएससी आनर्स किया और एमबीए (फाइनेंस व मार्केटिंग) आइएमटी, नागपुर से किया है।  अनु ने अपने 4 साल के बेटे से दूर रहकर अौर अपनी नौकरी छोड़कर अपना सपना साकार किया। अनु ने UPSC में देश में नंबर दो रैंक हासिल कर यह साबित कर दिया कि हरियाणा की लड़कियां हर वर्ग में लड़कों से आगे हैं। UPSC में नंबर दो रैंक हासिल कर अनु ने अपना ही नहीं अपने माता-पिता का और अपने प्रदेश का नाम पूरे देश में रोशन किया है।

इसी तरह सिरसा (हरियाणा) के सचिन गुप्ता की पिछले साल रैंकिंग 575 रही थी। सचिन ने बताया  कि एक बार पहले भी उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा दी थी। उसमें 575वां रैंक आया। आईएएस में उनका चयन नहीं हुआ। लेकिन आईएएस बनने की जिद उनके दिल और दिमाग में सवार रही। इसके चलते वह लगातार 18 घंटे पढ़ाई करने लगे उन्होंने दो साल पहले अपनी नौकरी छोड़ दी और सिविल सर्विसेज की पढ़ाई शुरू कर दी।

बक्सर जिले के चौसा के मंगरांव गांव के अतुल प्रकाश को चौथा स्थान मिला है।  परीक्षा के चौथे टॉपर अतुल प्रकाश आइआइटियन हैं। उनके पिता एके राय रेलवे इंजीनियरिंग सेवा के अधिकारी हैं। वे वर्तमान में हाजीपुर जोन में मुख्य अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। वे मूलत: आरा के रहने वाले हैं।

प्रथम कौशिक ने संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा में देशभर में पांचवां रैंक हासिल किया है। प्रथम कैशिक ने महेंद्रगढ़ में बारहवीं पास की। जिसके बाद 2015 में पंजाब विश्वविद्याल चंडीगढ़ से बीटेक की परीक्षा की फिर आईएएस की परीक्षा दी किंतु उसमें सफलता हासिल नहीं लग पाई। इसके बाद 2017 में आईएएस का प्री एक्जाम, अक्टूबर में मैनस तथा फरवरी में इंटरव्यू दिया। प्रथम ने यह सफलता अपने दूसरे प्रयास में प्राप्त की है।

प्रथम के पिता नरेंद्र कौशिक कैथल जिले में उप आबकारी एवं कराधान आयुक्त के पद पर कार्यरत हैं, जबकि उनकी मम्मी राजबाला गांव दौंगड़ा में भूगोल की लेक्चरर हैं। उनके पिता ने बताया कि प्रथम बचपन से ही पढ़ाई में अच्छे हैं। प्रथम 10वीं अौर 12वीं में मैरिट आए थे।  प्रथम का कहना है कि घर में सभी का सपना था कि वे आईएएस बने। जिसके बाद सपने को साकार करने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की। प्रथम हरियाणा में रहकर देश की सेवा करना चाहते हैं। प्रथम कौशिक आईएएस की परीक्षा में पांचवां रैंक प्राप्त करने वाले जिले के पहले आईएएस हैं।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »