Saturday , September 18 2021
Breaking News

‘शत्रु’ ने पीएम मोदी को दिखाये आइने, समझाये राहुल की बात के मायने

Share this

डेस्क्। काफी लम्बे समय से लगातार भाजपा के लिए बागी शत्रुघ्न सिन्हा काफी हद तक अपने जबर्दस्त हिट रहे “विश्वनाथ” के किरदार को दोहरा रहे हैं और जब तब किसी न किसी रूप में “जली को आग कहते हैं” वाले डायलॉग से मोदी के खेमे में हलचल मचा रहे हैं। इसी क्रम में अब इस बार उन्होंने सोशल मीडिया पर राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने वाले बयान पर PM मोदी द्वारा आलोचना किये जाने पर जहां राहुल की बात के मायने समझाये वहीं कितने ही मामलों में बखूबी बेहद शालीनतापूर्वक आइने भी दिखाये।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के बागी नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताने पर की गई आलोचना के लिए प्रधानमंत्री मोदी को बखूबी आड़े हाथों लेते हुए जहां सोशल मीडिया के जरिए उन पर निशाना साधा, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का समर्थन करते हुए उनकी  जमकर तारीफ की।

दरअसल भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने शनिवार को ट्वीट करते हुए लिखा, नामदार, कामदार, दामदार या कोई औसत समझदार, हमारे देश में कोई भी प्रधानमंत्री बन सकता है, लेकिन उसके पास पर्याप्त समर्थन और आवश्यक संख्या (सांसदों की) होनी चाहिए। आखिर इस तरह का माहौल क्यों हैं और हम इसके बारे में क्यों चिल्ला रहे हैं? यह उनका आंतरिक मामला है, प्रधानमंत्री बनने का फैसला बहुमत के जरिए होता है।

इतना ही नही उन्होनें एक और टवीट करते हुए लिखा है कि राहुल गांधी पिछले कई सालों के दौरान ज्यादा परिपक्व और जनता के बीच ज्यादा लोकप्रिय हुए हैं, और उन्होंने देश के हित में कई जरूरी सवाल उठाए हैं।  अगर देश की सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी के नेता के अंदर देश का अगला प्रधानमंत्री बनने की संभावना दिखती है तो इसमें गलत क्या है? कोई भी पीएम बनने का सपना देख सकता है और सपने तभी सच होते हैं, जब आप सपने देखते हैं।

वहीं बेहद ही शालीन लहजे में शत्रुघ्न सिन्हा ने एक और ट्वीट करते हुए PM मोदी को लिखा कि “डियर सर, आपने कहा कि कोई कांग्रेस नेता भगत सिंह से मिलने नहीं गया, लेकिन सच्चाई यह है कि जवाहरलाल नेहरू 9 अगस्त 1929 को भगत सिंह से जेल में मिले थे।“ इसके अलावा उन्होंने मोदी को संबोधित करते हुए कहा कि आपने दो बार 2013 और 2017 में कहा कि तक्षशिला बिहार में है। सच्चाई यह है कि तक्षशिला पाकिस्तान में है, जबकि नालंदा बिहार में है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »