Saturday , August 13 2022
Breaking News

दलित परिवार की धर्म परिवर्तन की चेतावनी, शासन और प्रशासन की मुसीबत बनी

Share this

लखनऊ। केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार के दलितों को सुरक्षा और सम्मान देने के तमाम दावे तब महज छलावे साबित होते नजर आते हैं जब उनकी तमाम कवायदों पर जिम्मेदार अफसरान ही बखूबी अमल नही करते हैं और खामियाजे के तौर पर लोग सरकार को दोषी ठहराते हैं। ऐसा ही एक मामला अब जनपद बांदा में सामने आया है जहां दबंगो की दबंगई और पुलिस द्वारा सुनवाई न किये जाने के चलते एक दलित परिवार ने एसपी आफिस पहुंचकर हिन्दू धर्म त्याग कर धर्म परिवर्तन की धमकी दी है।

जानकारी के मुताबिक मामला प्रदेश के जनपद बांदा में बिसंडा थाना क्षेत्र के तेन्दुरा गांव का है, जहां के दिव्यांग दलित संतोष कुमार ने अपर एसपी और एडीएम के सामने पेश होकर प्रार्थना पत्र दिया, जिसमें शिकायत की गई कि उसके पड़ोस के उंची जाति के दबंग लोग उसकी जमीन हथियाना चाहते हैं और आये दिन मौका पाकर महिलाओं के साथ गाली गलौज और मारपीट करते हैं।

दिव्यांग दलित संतोष ने प्रार्थना पत्र में 24 मई की घटना का जिक्र करते हुए बताया है कि दबंगों ने उसके घर की 4 महिलाओं के साथ जमकर मारपीट की और पुलिस ने उनकी मदद करने की बजाय आरोपियों को ही छोड़ दिया। पुलिस ने उल्टा आरोपियों से ही एक शिकायत पीड़ितों के खिलाफ लिखवा ली।

इतना ही नही पीड़ित परिवार ने बताया कि दबंग उनके 5 घरों पर पहले ही कब्जा कर चुके हैं और अब 6वें घर पर भी कब्जा कर हमें गांव से निकलवा देना चाहते हैं। अपर पुलिस अधीक्षक लाल भरत कुमार पाल ने बताया कि प्रकरण गंभीर है और इसकी तहकीकात के लिए सीओ बबेरू को जांच सौंपी गई है।

फिलहाल पुलिस के रवैये से नाराज पूरा दलित परिवार जिला मुख्यालय जा पहुंचा और पुलिस प्रशासन को न्याय न मिलने पर परिवार समेत हिन्दू धर्म त्याग दूसरा धर्म अपनाने की धमकी दे डाली। धमकी से सकते में आये प्रशासन ने आनन-फानन में जांच टीम गठित कर दी है।

Share this
Translate »