Saturday , September 18 2021
Breaking News

अलर्ट: लश्कर की UP के मंदिरों और स्टेशनों को उड़ाने की धमकी, प्रदेश भर में बढ़ाई गई चौकसी

Share this

लखनऊ। रमजान जैसे पाक माह में भी नापाक आतंकवादियों की घिनौनी हरकतें लगातार जारी हैं इसी क्रम में अब तथाकथित तौर पर उत्तर प्रदेश में लश्कर-ए-तैयबा द्वारा कृष्ण जन्मभूमि और काशी विश्वनाथ मंदिर समेत कई रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की धमकी के बाद उत्तर प्रदेश में पुलिस को राज्यव्यापी अलर्ट किया गया है। सीनियर पुलिस अधिकारी ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी है। धमकी में धमाके के दिन 6, 8 व 10 जून हैं।

गौरतलब है कि पिछले महीने नॉर्दर्न रेलवे को भेजे गए खत में लश्कर-ए-तैयबा के एरिया कमांडर मौलाना अंबु शेख ने ये धमकी दी है। यह पत्र नॉर्दर्न रेलवे को नई दिल्ली में 29 मई को मिला था। इसमें सहारनपुर और हापुड़ समेत कई रेलवे स्टेशनों को दहलाने की धमकी दी गई है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस धमकी भरे पत्र के मिलने के बाद राज्य में पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है।

इस बाबत जैसा कि अधिकारियों ने बताया कि इस धमकी भरे पत्र में मथुरा के कृष्ण जन्मभूमि मंदिर और वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर को उड़ाने की भी धमकी दी है और उसकी तारीख 8-10 जून बताई है। अधिकारियों को इस बात के आदेश दिए गए हैं कि पूरे राज्य और संवेदनशील जगहों की सुरक्षा व्यवस्था की कड़ी चौकसी सुनिश्चित की जाए।

इस पत्र में हालांकि पश्चिम उत्तर प्रदेश के कई जिलों से लेकर आगरा तक सीरियल ब्लास्‍ट की धमकी दी गई है। जिसके चलते डीजीपी मुख्यालय ने एडीजी वाराणसी, एडीजी मेरठ और एडीजी आगरा समेत सभी अफसरों को इस मामले में अलर्ट भेज दिया है।  अलर्ट के मद्देनजर सार्वजनिक स्थलों पर चौकसी और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस संबंध में डीजीपी मुख्यालय ने सभी जिलों को भीड़ वाले इलाकों के साथ-साथ महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों की सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

वहीं जब कि  एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने कहा कि रेलवे स्टेशनों और धार्मिक शहरों को उड़ाने की धमकी का पत्र किसी की शरारत भी हो सकती है। मौलाना अबू शेख नाम का कोई आतंकी नहीं है। इस संबंध में कोई इंटेलिजेंस इनपुट भी नहीं है। आरपीएफ ने यह पत्र भेजा है। यह पत्र डीआरएम फिरोजपुर को मिला था। फिर भी इसे गंभीरता से लेते हुए अलर्ट जारी किया गया है। किसी को भयभीत होने की जरूरत नहीं है। यह भी पता किया जा रहा है कि यह किसकी शरारत है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »