Monday , November 29 2021
Breaking News

विजय गोयल ने की मौलाना बुखारी से मुलाकात, बुखारी ने कही मोदी सरकार के खिलाफ बड़ी बात

Share this

नई दिल्ली। भाजपा अपने संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत आज भाजपा के दो वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय मंत्रियों ने मुस्लिम समाज के तमाम नामचीन और खास अहमियत रखने वाली शख्सियतों से मुलाकात की। इस अभियान के मद्देनजर जहां केन्द्र सरकार के मंत्री और भाजपा नेता विजय गोयल ने जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी से मिले। वहीं केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भाजपा के ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत आज शैक्षणिक एवं सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले मुस्लिम समाज के कुछ प्रमुख लोगों से मुलाकात की

गौरतलब है कि विजय गोयल ने शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी को मोदी सरकार के 4 सालों के कार्य के बारे में जानकारी दी । पर शाही इमाम ने पलटवार करते हुई मुसलमानों के देश में हालातों की बात की। इस मुलाकात के बाबत शाही इमाम ने कहा कि वे हमारे पास आए हैं लेकिन देश में मुसलमानों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है। उन्होंने कहा कि चुनावों में एक वर्ष बचा है। अगर सरकार हमारे लिए कुछ करती है तो उसका स्वागत होगा। लेकिन हमें उनसे बहुत सी शिकायतें हैं।

इसी प्रकार आज केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने ‘इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर’ के अध्यक्ष सिराजुद्दीन कुरैशी और मुस्लिम समाज के कुछ अन्य प्रमुख लोगों से मुलाकात कर उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा पिछले 4 वर्षों में ‘समावेशी-सर्वस्पर्शी विकास’ के लिए किये गए कामों के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व में अमन, शांति, इंसानी मूल्यों की मजबूत आवाज बन चुके हैं। अमन और इंसानियत की दुश्मन ताकतें अलग-थलग पड़ चुकी हैं। ऐसी हताश, निराश ताकतें अमन-शांति के माहौल को खराब करने की साजिशें कर रही हैं पर लोगों की एकजुटता और अमन-शांति के प्रति प्रतिबद्धता ऐसी ताकतों को परास्त करेंगी।

नकवी ने कहा कि सामाजिक सौहार्द, सहिष्णुता भारत के डीएनए में है। हमें भारत की एकता की संस्कृति को और मजबूत बनाये रखने के लिए मिल कर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि दुनिया में किसी भी देश के मुकाबले भारत में अल्पसंख्यकों के सामाजिक, धार्मिक, संवैधानिक अधिकार सबसे ज्यादा सुरक्षित है।  नकवी ने ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत कल ईसाई धर्मगुरू बिशप वारिस मसीह से मुलाकात की थी।

Share this
Translate »