Monday , September 27 2021
Breaking News

शहीद औरंगजेब के पिता ने दिया PM मोदी को 72 घण्टे का अल्टीमेटम और कही बड़ी बात

Share this

श्रीनगर। कश्मीर में सेना के जवानों के साथ लगातार जारी आतंकी घटनाओं के बीच शहीद जवान औरंगजेब के पिता ने कहा है कि मैं प्रधानमंत्री मोदी को 72 घंटे का वक्त देता हूं, अगर 72 घंटे में आतंकियों को खत्म नहीं किया गया तो मैं भी हथियार उठा लूंगा।

गौरतलब है कि भारतीय जांच एजेंसियां ने खुलासा किया है कि औरंगजेब की हत्या पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI  के इशारे पर हुई है। औरंगजेब के पिता ने कहा कि हम इंडियन आर्मी वाले देश के लिए इतना कुछ करते हैं पर सरकारें हमारे लिए कुछ नहीं करती। ज्ञात हो कि औरंगजेब के पिता रिटायर सैनिक हैं। और एक भाई भी सेना में है।

वहीं भारतीय सेना के शहीद जवान औरंगजेब का अंतिम संस्कार पू्रे सैनिक सम्मान के साथ उनके गांव में किया गया। आज सुबह शहीद औरंगजेब के शव को उनके गांव लाया गया। शहीद के परिवार और गांव में गम का माहौल है। गांव वालों में इस दौरान आतंकियों के खिलाफ गुस्सा देखा गया। गांव वालों ने औरंगजेब अमर रहें के नारे भी लगाए।

दरअसल भारतीय सेना के जवान औरंगजेब ईद के मौके पर अपने घर आ रहे थे। घर जाने के लिए वह निकल भी चुके थे लेकिन रास्ते में ही आतंकियों ने उनका अपहरण कर लिया। कुछ देऱ बाद ही औरंगजेब को आतंकियों ने मार डाला। पुलिस को उनकी लाश पुलवामा से मिली थी। औरंगजेब ऐंटी-टेरर ग्रुप के सदस्य थे। कई बड़े आतंकियों को ठिकाने लगाने में उनका योगदान था।

इतना ही नही आतंकियों ने कल कश्मीर के एक बड़े पत्रकार शुजात बुखारी को सरेआम गोली मार कर उनकी हत्या कर दी थी। शुजात बुखारी  राइसिंग कश्मीर के संपादक थे। वह एक ख्याती प्राप्त पत्रकार थे। उनकी हत्या पर राहुल गांधी से लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह तक ने दुख जताया है।

इसके साथ कल ही कश्मीर में आतंकियों ने एक पुलिस जवान और एक आम आदमी का अपहरण किया था। जिनका अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस ने पुलिस जवान की पहचान को गुप्त रखा है। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां दोनों का पता लगाने में लगी हुए है। माना जा रहा है कि कल कश्मीर में जिस तरह का आतंक आतंकियों ने मचाया वह कश्मीर के हालातों पर गंभीर सवाल खड़े करता है। कश्मीर में आतंकियों के हौसले दिनों दिन बड़ते ही जा रहे है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »