Monday , May 16 2022
Breaking News

LU में सुरक्षा-व्यवस्था की उड़ी धज्जियां, सपा छात्र नेताओं ने की जमकर गुंडई

Share this

लखनऊ। पिछले काफी वक्त से जारी समाजवादी छात्र सभा की नेता पूजा शुक्ला को पीजी में प्रवेश को लेकर जारी विवाद आज आखिरकार चरम पर पहुच ही गया जिसका परिणाम ये हुआ कि मामले को हल्के में लेने वाले शासन और पुलिस प्रशासन की गलती का खामियाजा लखनऊ विश्वविद्यालय के प्राक्टर, वीसी समेत तमाम शिक्षकों को भुगतना पड़ा। जिनको न सिर्फ अभद्रता और मारपीट का शिकार होना पड़ा वहीं विश्वविधालय को अनिश्चितकालीन के लिए बंद कर दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक विश्वविद्यालय से निष्कासित छात्र नेता आशीष मिश्र बॉक्सर पीजी काउंसलिंग में धांधली की शिकायत लेकर एकेडमिक ब्लॉक गया था। वहां मौजूद प्रॉक्टर विनोद कुमार सिंह से उनकी कहासुनी हो गई। जिसके बाद उनकी वीसी और प्रॉक्टर से हाथापाई तक हो गई। मामला यहीं शांत नहीं हुआ। विश्वविद्याल से निकल रहे कुलपति की गाड़ी पर भी बाहर मौजूद कार्यकर्ताओं ने पत्थर चला दिए। इससे गाड़ी का शीशा टूट गया।

इतना ही नही समाजवादी छात्र सभा के नेताओं ने जहां न सिर्फ प्रॉक्टर व वीसी के साथ हाथापाई कर दी। वहीं तमाम कार्यकर्ताओं ने वीसी की गाड़ी का शीशा तोड़ने के बाद वहां मौजूद शिक्षकों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। घटना के बाद पीजी काउंसिलिंग को स्थगित करते हुए विश्वविद्यालय को अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया गया है।

इस मामले में पुलिस ने छात्र नेता अंकित सिंह बाबू को हिरासत में लिया है। इसके अलावा अनशन पर बैठे सभी छात्रों को हटा दिया गया है। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री योगी को काला झंडा दिखाने वाली समाजवादी छात्र सभा की नेता पूजा शुक्ला को विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्रवेश देने से रोक दिया था। जिसे लेकर वह कई दिनों से धरने पर बैठी थीं।

Share this
Translate »